सब्जी मंडी में नहीं पहुंचे ग्राहक

अधिकांश सब्जियों के दाम गिरे

लालसोट. लॉकडाउन के दौरान मंगलवार को लालसोट में थोक व खैरूज सब्जी मंडियां तो खुली, लेकिन दोनों ही मंडियों में ग्राहक नहीं पहुंचने से सब्जियों के दामों में काफी गिरावट आई।जबकि जनता कफ्र्यू एक दिन पूर्व 21 मार्च को दोनो मंडियों में अधिकांश सब्जियों के दाम काफी बढ़ गए थे।
थोक विक्रेता भागचंद सैनी ने बताया कि मंगलवार को थोक मंडी में गोभी 40 रुपए से घट कर 30 रुपए प्रतिकिलो, लोकी 12 रुपए से घटकर 4 रुपए प्रतिकिलो, मिर्च 25 रुपए किलो से घटकर 20 रुपए प्रति किलो, पत्ता गोबी 8 रुपए से घट कर 5 रुपए प्रति किलो, करेला 40 रुपए से घट कर 30 रुपए प्रतिकिलो एवं टमाटर 500 रुपए प्रति केरेट से घट कर 200 रुपए प्रति केरेट की दर से बेचे गए। थोक मंडी में शंभूलाल सैनी, चंदालाल सैनी, कमलेश बणज्यारा समेत कई आढ़तियों ने बताया कि मंडियों में बाहर से आने वाले व्यापारी नहीं पहुंचने व अन्य मंडियों से भी मांग नहीं होने से से दामों में कमी आई है।
इसके अलावा खैरूज मंडी के दुकानदार भी ग्राहकी नहीं होने से कम ही माल खरीद रहे हैं। कई किसानों ने बताया कि अगर कोरोना वायरस का प्रकोप शीघ्र ही समाप्त नहीं हुआ और तो खेतों में उग रही उनकी सभी सब्जियां खराब हो जाएगी।
इसके चलते उन्हें काफी बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा। बस स्टैण्ड के पास संचालित खैरूज मंडी में सुबह 7 से 11 बजे तक ही सब्जी विक्रेताओं ने अपनी दुकानें लगाई। इस दौरान मंडी में इक्का-दुक्का ग्राहक ही सब्जी खरीदने के लिए पहुंचे।

संदिग्ध की सूचना पर हरकत में आया प्रशासन
गुढ़ाकटला.
कस्बे में मंगलवार दोपहर दिल्ली से आए करीब आठ जनों में एक बीमार की सूचना पर पुलिस एवं पंचायत प्रशासन हरकत मे आ गया। विद्यालय के पास स्थित एक मकान में दिल्ली से करीब आठ जने एक बीमार व्यक्ति को लेकर आए।सूचना मिलते ही ग्राम सचिव हेमन्त शर्मा, पटवारी अनिल शर्मा, डॉ. योगेन्द बैरवा तुरंत संदिग्ध मरीज की जांच के लिए घर पहुंचे। चिकित्सक ने बताया कि संदिग्ध मरीज के कोई अन्य बीमारी है। जिसका किसी देवता के झाडा लगवाने आऐ थे, लेकिन महामारी के संक्रमण के भय से वापस ही लौट गए।

डुगरावता में 14 कोरोना संदिग्ध आए
चिकित्सा टीम व पुलिस ने समझाया
लवाण.
डुगरावता ग्राम पंचायत की ढाणी नयागांव में सोमवार रात को 14 जने अलग-अलग जगह से आए। इस बारे में ग्रामीणों ने प्रशासन को सूचना दी तो खानवास पीएचसी प्रभारी रामजीलाल मीणा व थाने के पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे। ये सभी लोग भीलवाड़ा, दिल्ली और पूना सहित अन्य स्थानों से आए हैं। चिकित्सा प्रभारी ने बताया कि सभी स्वस्थ हैं।उनकी स्क्रीनिंग तो तो नहीं कराई,लेकिन सभी को घर से बाहर नहीं निकलने के लिए पाबंद कर दिया। चिकित्सा प्रभारी ने बताया कि इसमें छह जने भीलवाड़ा से आए। इन्हें होम आईसोलेशन में ही रहने को कहा गया। इधर, शेरसिंह रजवास में कोरोना संदिग्ध व्यक्ति को चिकित्सा विभाग ने अपने घर में रहने और बाहर नहीं घूमने की हिदायत दे रखी है, लेकिन वह जानबूझकर दूसरों से मिलने जा रहा है।इस बारे में सरपंच बसबाई मीणा, कन्हैयालाल मीणा व ग्रामीणों ने थाने में भी सूचना दे दी, लेकिन वहां कोई नही पहुंचा। अब ग्रामीणों ने अपने हाथों में डण्डा लेकर उसे घर में भेज रहे हैं।

Corona virus
Rajendra Jain Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned