दौसा चहुंओर जगमगाहट, जन-धन से गुलजार बाजार

दीपावली शनिवार को, रविवार को होगी गोवर्धन पूजा, धनतेरस पर दुकानों पर लगी रही ग्राहकों की कतार

By: Mahesh Jain

Published: 13 Nov 2020, 07:22 PM IST

दौसा. उत्साह, उमंग व श्रद्धा के त्योहार दीपोत्सव के एक दिन पहले शुक्रवार को बाजारों में धन की वर्षा हुई। धनतेरस पर खरीदारी की परम्परा होने के कारण जिले के बाजारों में सुबह से लेकर रात तक ग्राहकों का तांता लगा रहा। सडक़ों पर जनसैलाब उमड़ पड़ा तो प्रतिष्ठानों पर धनवर्षा से बाजार गुलजार हो गए। अनुमान के मुताबिक जिले में 200 करोड़ से अधिक का व्यापार हुआ है।

दीपोत्सव को लेकर हर तरफ उल्लास छाया हुआ है। घर व प्रतिष्ठान रोशनी से जगमगा उठे हैं। शनिवार को दीपावली पर लक्ष्मी पूजन, रविवार को गोवर्धन पूजा व सोमवार को भाई-दूज मनाई जाएगी। आरोग्य व वैभव के पर्व धनतेरस पर जिले के बाजारों में दिनभर लोगों का हुजूम उमड़ा रहा। शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों के लोग भी जिला मुख्यालय पर खरीदारी करने के लिए आए।

इससे बाजारों में कपड़े, बर्तन, सोने-चांदी, मोबाइल फोन, वाहन सहित साज-सज्जा से लेकर खील-बतासे की दुकानों पर लोगों की भीड़ लगी रही। व्यापारियों को दिनभर बैठने की फुर्सत नहीं मिली। लोगों ने सोने-चांदी के सिक्के, अंगूठी व अन्य गहने खरीदने में खासा उत्साह दिखाया। शाम को महिलाओं ने घरों व प्रतिष्ठानों पर दीपक जलाए। रंग-बिरंगी रोशनी से भवन जगमगा उठे।

वहीं रूप चतुर्दशी को लेकर महिलाओं ने ब्यूटी पार्लरों व घरों में शृंगार किया। लोग अपने मकानों की सजावट में लगे रहे। वाहनों में भी जोरदार भीड़ देखी गई। लोग दीपावली मनाने के लिए अपने घर जा रहे थे। ट्रेनों की कमी के कारण बसों में जमकर भीड़ देखी गई।

शोरूम से खरीदकर पहुंचे मंदिर
जिले में दुपहिया व चौपहिया वाहन खरीदारी के प्रति लोगों का खासा आकर्षण रहा। जिले के सभी वाहन शो-रूमों पर दिनभर खरीदारों का जमावड़ा लगा रहा। शो-रूम संचालकों ने भी एडवांस बुकिंग के आधार पर वाहनों को तैयार कराकर रख लिया।

मुहूर्त के अनुसार लोग शोरूम से वाहन लेकर सीधे मंदिर पहुंचे। व्यवसायी सत्यनारायण धोंकरिया ने बताया कि जिलेभर में करीब तीन हजार से अधिक दुपहिया तथा दो सौ से अधिक चौपहिया वाहनों की बिक्री हुई। वाहनों की खरीदारी के कारण ही मंदिरों में भीड़ रही। विशेषकर शहर के सब्जी मण्डी स्थित गणेश मंदिर व किला सागर स्थित बैजनाथ महादेव मंदिर पर लोगों ने वाहनों का पूजन कराया।

सिक्के व बर्तन खरीदे

धनतेरस पर परम्परा के अनुसार बर्तन खरीदना शुभ माना जाता है। इसी के चलते बर्तन भण्डारों पर ग्राहकों को हुजूम उमड़ पड़ा। व्यापारियों ने दुकानों को सजाकर बाहर तक बर्तन लगाए। ग्राहकों ने भी स्टील के साथ तांबे व पीतल के बर्तन भी ग्राहकों ने खरीदे। लक्ष्मी पूजन के लिए चांदी के सिक्के भी खूब बिके। इसके अलावा महिलाओं ने सोने-चांदी के आभूषण खरीदे। टीवी, फ्रिज, वाशिंग मशीन सहित अन्य उपकरण खरीदने में भी लोगों ने रुचि दिखाई। रेडिमेड गारमेंट, फुट वियर शो-रूम, मोबाइल फोन शो-रूम, मिष्ठान भण्डार आदि की दुकानों पर भी दिनभर भीड़ रही।

अस्थाई दुकानों की भरमार
दीपावली पर बाजारों में जगह-जगह अस्थाई दुकानें लगी हुई है। कोई मिट्टी की सराय व दीपक आदि बेच रहा था तो किसी ने लक्ष्मी पूजन के लिए प्रसाद व सामग्री बेची। गन्ने व सीताफल भी लोगों ने खरीदे। वहीं पशुओं को सजाने की सामग्री भी ग्रामीण खरीदते नजर आए।


सजी मिठाइयों की दुकान

दीपावली व गोवर्धन के त्योहार पर घरों में पकवान बनाए जाएंगे। दीपावली के दिन हलवा, पुरी व अन्य कई प्रकार के व्यंजन बनाने हैं। साथ ही दुकानों से मिठाइयां लाने की परम्परा भी है। यही कारण है कि शहर व गांवों में मिठाइयों की दुकानों पर जमकर भीड़ देखी जा रही है। जिला मुख्यालय पर डोवठा, बर्फी, सोनपपड़ी, गुलाब जामुन व फीणी समेत कई प्रकार की मिठाइयां खरीदने वालों की भीड़ देखी जा रही है। गोवर्धन पर चूरमा-बाटी बनाया जाता है।

Mahesh Jain Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned