scriptDausa: Flying of Corona guidelines, negligence | दौसा: कोरोना गाइडलाइन की उड़ रही धज्जियां, लापरवाही का आलम | Patrika News

दौसा: कोरोना गाइडलाइन की उड़ रही धज्जियां, लापरवाही का आलम

शहरी क्षेत्रों में संचालित हुए कुछ स्कूल-कोचिंग, बसें भी क्षमता से अधिक सवारियां भरकर दौड़ रही

दौसा

Published: January 10, 2022 08:07:09 pm

दौसा. जिले में कोरोना वैश्विक महामारी ने तीसरी बार फिर दस्तक दी है। दिन-प्रतिदिन कोरोना केस बढ़ते जा रहे हैं, लेकिन आमजन से लेकर प्रशासन तक राज्य सरकार की गाइड लाइन की पालना करने में लापरवाही बरत रहे हैं। ऐसे ही हालात चलते रहे तो जनसमुदाय में महामारी का प्रसार रोकना मुश्किल हो जाएगा।
दौसा: कोरोना गाइडलाइन की उड़ रही धज्जियां, लापरवाही का आलम
दौसा: कोरोना गाइडलाइन की उड़ रही धज्जियां, लापरवाही का आलम
रविवार शाम राज्य सरकार ने गाइड लाइन जारी कर शहरी क्षेत्रों में स्कूलों व कोचिंग में कक्षाओं का संचालन 30 जनवरी तक बंद करने के आदेश जारी किए, इसके बावजूद सोमवार सुबह जिला मुख्यालय पर कुछ स्कूल धड़ल्ले से संचालित हुए। कई अभिभावकों की शिकायत के बावजूद शिक्षा विभाग के अधिकारी आंख मूंदकर बैठे रहे। इसी तरह कोचिंग सेंटरों में भी विद्यार्थियों का जमावड़ा लगा रहा। ग्रामीण इलाकों की स्कूल में नियमों की पालना नहीं की गई।
वहीं बसों में सीटों पर ही सवारी की अनुमति के बावजूद क्षमता से अधिक सवारियां लेकर वाहन दौड़ रहे हैं। यहां तक की रोडवेज में भी सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। वहीं जिले में भीड़ वाले कार्यक्रम हो रहे हैं। मास्क व सेनेटाइजर अब दुकानों व कार्यालयों तक में नजर नहीं आते हैं। सामाजिक दूरी की पालना नहीं की जा रही हाइपोक्लोराइड का छिड़काव बंद हो गया है।
सरकारी कार्यालयों में नहीं कोई रोक-टोक

सरकारी कार्यालयों में आने-जाने वालों के वैक्सीनेशन के बारे में कोई पूछताछ नहीं हो रही। यहां तक कि सेनेटाइजेशन भी नहीं किया जाता। बिना मास्क लगाए भी घूमते लोग नजर आ जाते हैं। इसी तरह निजी व्यावसायिक भवनों में भी कोविड प्रोटोकॉल की पालना के कोई इंतजाम नहीं है। सरकार के आदेश के बावजूद जन जागरूकता अभियान भी शुरू नहीं किया।
बाजारों में भीड़ पर नहीं लगाम

भले सरकार ने आवश्यक कार्य से ही घरों से बाहर निकलने की अपील की है, लेकिन बाजारों में भीड़ पर लगाम नहीं है। सोमवार को मुख्य सड़क मार्गों व बाजारों में खासी भीड़ रही। लोगों ने सर्दी के चलते मफलर या टोपे लगा रखे थे, लेकिन मुंह पर मास्क कम लोगों के ही नजर आए। प्रशासन के साथ पुलिस भी फिलहाल ढिली पड़ी है। कहीं कोई रोक-टोक नजर नहीं आ रही।
इस बार साल की शुरुआत से ही संक्रमण

वर्ष 2020 में लॉकडाउन के दौरान 3 अप्रेल को दौसा में पहला कोरोना केस मिला था और दिसम्बर तक लगातार कोरोना केसेज चलते रहे। वर्ष 2021 में नए साल की शुरुआत शुभ रही। जनवरी व फरवरी माह में कोरोना थम गया और जनजीवन सामान्य हो गया। वर्ष 2022 में शुरुआत से ही संक्रमण फैलने लगा है। अब तक जिले में कुल 13 हजार 763 कोरोना केस सामने आ चुके हैं। वर्तमान में करीब 180 केस एक्टिव हैं।
दौसा: कोरोना गाइडलाइन की उड़ रही धज्जियां, लापरवाही का आलम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

लता मंगेशकर की हालत में सुधार, मंत्री स्मृति ईरानी ने की अफवाह न फैलाने की अपीलAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनावKanimozhi ने जारी किया हिन्दी सब-टाइटल वाला वीडियोIndian Railways News: रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर, 22 महीने बाद लोकल स्पेशल ट्रेनों में इस तारीख से MST होगी बहालएक किस्साः जब बाल ठाकरे ने कह दिया था- मैं महाराष्ट्र का राजा बनूंगा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.