scriptDausa. Frost reaches the kitchen, prices of many vegetables doubled | दौसा. रसोई तक पहुंची पाले की मार, दोगुना हुए कई सब्जियों के दाम | Patrika News

दौसा. रसोई तक पहुंची पाले की मार, दोगुना हुए कई सब्जियों के दाम


पाले के चलते खराब हो गई टमाटर, मिर्च, बैंगन और मटर की फसल
आवक कम होने से थोक मंडी में बढ़े दाम

दौसा

Published: December 25, 2021 10:44:24 am

दौसा. गत सप्ताह से लालसोट क्षेत्र में जारी कड़ाके की शीतलहर के दौरान गिरे पाले की मार अब आमजन की रसोई तक जा पहुंची है। इस बार गिरे पाले ने क्षेत्र में कई सब्जियों की फसल को पूरी तरह तबाह कर दिया है। एसे में लालसोट की थोक सब्जी मंडी में इन दिनों सब्जियों की आवक आधी से भी कम रह गई है और इनके दाम डेढ़ से दो गुना तक बढ़ गए है। थोक मंंडी में सब्जियों के दाम बढऩे का असर खेरूज मंडी होते हुए आम लोगों की जेब तक पहुंचा गया है। इससे इस सर्द मौसम में रसोई का बजट भी गड़बड़ा सकता है। गौरतलब है कि क्षेत्र में जारी शीत लहर के प्रकोप के दौरान गत दिनों दो रात्रि तक जमकर गिरे पाले ने खेतों में मौजूद टमाटर, मिर्च, बैंगन और मटर की अधिकांश फसल को चौपट कर दिया। पाला गिरने से फसलों में हुए खराबे का असर थोक सब्जी मंडी में हो गया। आढ़तिए भागचंद सैनी, शंभूलाल सैनी, चंदालाल सैनी, पदम फड़कल्या एवं अशोक व्यास समेत कई आढतियों ने बताया कि गत सप्ताह की शुरुआत मेें मंडी में गोबी, बैंगन, टमाटर, मिर्च एवं मटर की बंपर आवक शुरू हो चुकी थी। टमाटर की आवक पांच सौ केरेट तक पहुंच चुकी थी। यह पाले की मार के बाद यह घटकर दौ सौ केरेट तक आ गई है। यहीं हाल बैगन, मिर्च व मटर का हो रहा है। सर्दी का प्रकोप बढऩे से गोबी की फसल भी लेट हो गई है। आवक कम होने के चलते अब मंडी में सब्जियों के दाम भी दोगुना तक बढ गए है। गत सप्ताह तक थोक में 10 से 15 रुपए किलो तक बिकने वाली गोबी अब 30 से प्रति किलो जा पहुंची है। टमाटर दस से पन्द्रह रुपए किलो तक जा पहुंचा है, मटर के दाम भी बढ़कर 30 रुपए किलो तक जा पहुंचे है। इसके अलावा मंडी में नए आलू की आवक शुरू होने से पुराने आलू के दाम भी औधें मुंह गिर गए हैं।
घटने के बजाए बढ़ गए दाम
आम तौर पर हर साल दिसम्बर माह के अंत में शीत लहर का प्रकोप बढऩे के साथ ही थोक व खेरूज मंडियों में सब्जियों के दाम भी घटने लगते थे और आम जन की रसोई तक भी सब्जियां भरपूर मात्रा में पहुंचती थी, लेकिन इस बार पाले की मार से सब्जियों के दाम घटने के बजाए बढ़ गए है। आढ़तियों ने बताया कि पाले की मार से सब्जियों की गुणवत्ता पर भी गहरा असर पड़ा है। आढ़तियों का मानना है कि अब भाव कम होने की आंशका कम है। कुछ तापमन बढने पर गोबी की आवक दोबारा बढ़ेगी। टमाटर की नई फसल को आने में अभी थोड़ा वक्त लगेगा। मटर की फसल तो पूरी तरह खराब हो चुकी है। ऐसे में अन्य मंडियों से आने वाली सब्जियां महंगी ही रहेगी।
किसानों ने खेतों से उखाड़ दी फसल
जिस सब्जी की फसल की किसान ने बड़ी मेहनत के साथ तैयार की थी,अब पाले की मार के बाद किसान उसी फसल को अपने हाथों से उखाडऩे पर मजबूर है। सब्जी उत्पादक किसानों ने बताया कि पाले ने उनकी कई माह की मेहनत पर पानी फेर दिया है। सब्जियोंं के उत्पादन में बीज से लेकर कीटनाशक तक खर्चा ही खर्चा है, जब फसल पकी तो पाले ने बेकार कर दिया है। ऐसे में उन्हें लाखों रुपए का नुकसान हो गया है।
सब्जी थोक मंडी खेरुज मंडी
गोबी 30 40
टमाटर 15 30
मिर्च 20 30
मटर 30 40
बैंगन 15 30
हरा धनिया 25 40
मूली 4 10
पालक 5 10
गाजर 10 20
बालोड़ 25 40
पत्ता गोबी 30 40
शकरकंदी 20 30
आलू 4 8 से 15

दौसा. रसोई तक पहुंची पाले की मार, दोगुना हुए कई सब्जियों के दाम
लालसोट की थोक सब्जी मंडी में आढ़तियों के यहां बिकने पहुंची सब्जियां।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंCorona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाअब हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा National Start-up Dayसीमित दायरे से निकल बड़ा अंतरिक्ष उद्यम बनने की होगी कोशिश: सोमनाथरेलवे का कंफर्म टिकट खोने पर घबरायें नहीं, इन नियमों का करें पालनTesla In India: हमारे यहां लगाएं अपनी इलेक्ट्रिक कार का प्लांट, इस राज्य ने Elon Musk को दिया खुला न्योतासपा को बड़ा झटका, कैराना से प्रत्याशी नाहिद हसन गिरफ्तार, कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.