scriptDausa. The news of the fire in the Collectorate created a stir | दौसा. कलक्टे्रट में आग की सूचना से मचा हड़कम्प! | Patrika News

दौसा. कलक्टे्रट में आग की सूचना से मचा हड़कम्प!

दल-बल सहित पहुंचा प्रशासन: मॉक ड्रिल होने पर ली राहत की सांस

दौसा

Published: November 02, 2021 10:34:04 am

दौसा. जिला मुख्यालय स्थित कलक्टे्रट परिसर में आग लगने की सूचना ज्यों ही फैली अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। कई अधिकारी समय से पहुंचे गए तो कई देरी से पहुंचे। हालांकि मौके पर पहुंचने पर पता चला कि यह वास्तविक आगजनी नहीं बल्कि जिला प्रशासन का रिहर्सल है तो सभी ने राहत की सांस ली।
जानकारी के अनुसार 4.22 बजे पुलिस कंट्रोल रूप से सूचना दी गई कि कलक्टे्रट में आग लग गई है। सूचना मिलते ही 4.25 बजे दमकल पहुंच गई। इसके साथ ही एनडीआरएपफ, सिविल डिफेंस पहुंच गई। ठीक 10 मिनट बाद 4.32 बजे कोतवाली थाना प्रभारी लालसिंह यादव मय जाप्ते मौके पर पहुंच गए। 4.33 बजे एम्बुलेंस एवं उसी वक्त सीएमएचओ डॉ. सुभाष बिलौनिया, पीएमओ डॉ. दीपक शर्मा एवं अन्य चिकित्साकर्मी भी मौके पर पहुंचे। इसके तुरंत बाद तहसीलदार महावीर प्रसाद बाकोलिया व 4.42 बजे एम्बुलेंस 108 पहुंची।
जिला कलक्टर पीयुष समारिया, अतिरिक्त जिला कलक्टर आरके मीना, एएसपी लालचंद कयाल मौके पर मौजूद रहे। कलक्टे्रट भवन के समीप एक जगह कूड़े में कचरा डाल कर उसमें आग लगाई, जिससे धुंआ थी उठ रहा था। फायर ब्रिगेड के साथ आए कर्मचारियों ने उसी प्रकार आग बुझाई, जिस तरह हादसे में होता है। वहीं जब आग लगने पर कोई व्यक्ति झुलस जाता है और सुरक्षाकर्मी एवं डिफेंसकर्मी किस प्रकार उसका बचाव कर उसको सुरक्षति स्थान पर ले जाते है और उसका उपचार करवाते है, इसका भी रिहर्सल किया गया।
एडीएम ने बताया कि मॉक ड्रिल की सारी तैयारियां जिला प्रशासन के निर्देशन में कनिष्ठ सहायक राहुल भारद्वाज द्वारा की गई। टीमों द्वारा निर्धारित समय व प्रक्रिया में मॉक ड्रिल का सफल क्रियान्वयन किया गया। वहीं एनडीआरएफ टीम ने आपदा के समय बचाव के तरीकों से अवगत कराया।
दौसा. कलक्टे्रट में आग की सूचना से मचा हड़कम्प!
दौसा. छत से घायल को उतारते

महिला की मौत के मामले में आरोपी की पकडऩे की मांग
कलक्ट्रेट पहुंचे ग्रामीण
दौसा. जिला मुख्यालय पर सात अगस्त को एक महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के खुलासे एवं आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर दर्जनों ग्रामीणों ने सोमवार को कलक्टे्रट पहुंच कर जिला कलक्टर एवं पुलिस अधीक्षक के नाम ज्ञापन सौंपा। सात दिन में कार्रवाई नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी दी।
ज्ञापन में परिवादी मुकेश गुर्जर ने बताया कि बहन रिंकी की शादी गत 9 दिसम्बर को हुई थी। रिपोर्टकर्ता ने आरोप लगाया कि ससुरालपक्ष रिंकी को आए दिन दहेज के लिए परेशान करता था। 7 अगस्त को रिंकी की तबीयत खराब होने की सूचना मिली। उसके घर पहुंचे तो वह पलंग पर मृत पड़ी मिली। इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। ग्रामीणों ने अनुसंधान अधिकारी को बदलने सहित निष्पक्ष कार्रवाई की मांग की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.