दौसा: फसलों पर आफत बन बरसी बेमौसम बारिश

संकट में किसान, रात को संभाल नहीं पाए फसल

By: Mahesh Jain

Updated: 27 Mar 2020, 07:29 PM IST

दौसा. जिले में गुरुवार देर रात से बेमौसम बरसात का दौर शुरू हुआ, जो शुक्रवार सुबह १० बजे तक चलता रहा। इससे खेतों में कटी पड़ी रबी की गेहूं, जौ, सरसों एवं चने की फसल भीगकर खराब हो गई। बेमौसम बरसात फसलों पर आफत बन कर बरसी।

जानकारी के अनुसार इस वक्त जिले में गेहूं, जौ, सरसों एवं चने की फसलों की कहीं पर कटाई का काम चल रहा है तो कहीं पर किसानों की फसल कटाई के बाद खलिहानों में पड़ी है। देर रात आकाश में बादलों की घटा छाने के बाद अचानक बारिश शुरू हो गई। जिस वक्त बारिश आई, उस वक्त किसान घरों में सो रहे थे। इससे अधिकांश किसानों की फसल भीग गई। तड़के तक मध्यमगति तो कहीं हल्की बारिश का दौर चलता रहा। सुबह खेतों में किसान अपने फसलों के पूलों को खड़ा कर हवा लगाने के लिए उनको सुखाते नजर आए। इसके बाद फिर बूंदाबांदी हो गई।

संभाल भी नहीं पाए
जिलेभर में गुरुवार शाम को मौसम साफ था। किसानों को कतई अंदेशा नहीं था कि रात को मौसम खराब हो सकता है। ऐसे में किसान शाम को रबी की गेंहू, जौ, सरसों व चने की फसलों की कटाई कर आराम से घर आकर सो गए, लेकिन देर रात अचानक बरसात आई। इस वक्त आकाश में चारों ओर तेज गर्जना हो रही थी। पहले तो तेज बरसात हुई, लेकिन बाद में बारिश की गति धीमी पड़ गई। शुक्रवार सुबह १० बजे तक बूंदाबांदी का दौर चलता ही रहा।

तिरपाल लाने का है संकट
कोरोना लॉकडाउन की वजह से बाजार नहीं खुल रहे। किसानों को फसलों को बारिश, हवा व ओलों से सुरक्षा के लिए तिरपाल भी नहीं मिल पा रहे हैं। ऐसे में किसानों के सामने संकट खड़ा हो गया है। वहीं बाजार बंद होने की बजह से उनको अनाज भरने के लिए अच्छा बारदाना भी नहीं मिल रहा है।

दौसा: फसलों पर आफत बन बरसी बेमौसम बारिश
Mahesh Jain Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned