लोक अदालतों में 1042 प्रकरणों का निस्तारण

Disposal of 1042 cases in Lok Adalats: 8 करोड़ 89 लाख 55 हजार 380 रुपए की राशि का सेटलमेंट

By: gaurav khandelwal

Published: 11 Sep 2021, 09:19 PM IST

दौसा. जिले में विभिन्न न्यायालय परिसरों में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। इसमें जिले के न्यायालयों में लंबित प्रकरणों में से 975 तथा प्रि-लिटिगेशन के तहत प्राप्त मामलों में से 67 सहित कुल 1 हजार 42 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। साथ ही करीब 8 करोड़ 89 लाख 55 हजार 380 रुपए की राशि का सेटलमेंट किया गया।

Disposal of 1042 cases in Lok Adalats


राष्ट्रीय लोक अदालत के लिए दौसा मुख्यालय पर 8 बैंचों का गठन किया गया। इनमें न्यायिक अधिकारी व अधिवक्ता शामिल रहे। इसके अतिरिक्त तालुका मुख्यालयों पर भी न्यायिक अधिकारियों तथा अधिवक्ताओं की कुल 7 बैंचों का गठन किया गया। दौसा मुख्यालय पर गठित लोक अदालत बैंचों का जिला एवं सैशन न्यायाधीश तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष अनंत भण्डारी ने जायजा लिया गया। उनके द्वारा उपस्थित बैंक व बीमा कंपनियों के अधिकारियों एवं उनके प्रतिनिधियों को राजीनामा योग्य प्रकरणों का लोक अदालत में अधिक से अधिक निस्तारण कराने के लिए प्रोत्साहित किया गया। लोक अदालतों में सुलहवार्ता करते हुए समझाइश एवं राजीनामा के माध्यम से प्रकरण के निस्तारण के प्रयास किए गए।

Disposal of 1042 cases in Lok Adalats


पाक विस्थापित परिवारों से जुड़े सम्पदा बंटवारे का प्रकरण सुलझा


अपर जिला एवं सैशन न्यायालय दौसा में वर्ष 2010 से लंबित पाक विस्थापित परिवारों के सम्पदा से संबंधित महत्वपूर्ण दीवानी वाद का भी निपटारा किया गया। भारत-पाकिस्तान के विभाजन के दौरान पाकिस्तान से विस्थापित होकर शरणार्थी के रूप में दिल्ली, जयपुर व उसके बाद दौसा आए संयुक्त हिन्दू परिवार को तत्कालीन जयपुर रियासत के कलक्टर व तत्कालीन जागीरदारों द्वारा आजीविका चलाने के लिए खेती की भूमि ग्राम दलेलपुरा तहसील दौसा में दी गई थी।

उक्त अविभाजित कृषि भूमि से भिन्न-भिन्न स्थानों पर संयुक्त हिन्दू परिवार की आय से अचल सम्पदा का पक्षकारान का विभाजन उद्घोषणा व स्थाई निषेधाज्ञा के विवाद को पीठासीन अधिकारी श्रीमती रेखा चौधरी, अपर जिला एवं सैशन न्यायाधीश दौसा ने प्रि-काउंसलिंग व राजीनामे का प्रयास करते हुए निस्तारित किया। प्रकरण में पक्षकारों के अधिवक्ता अभयशंकर शर्मा, वरुण नागर, योगेश जाखड़ व बजरंग लाल शर्मा तथा लोक अदालत बैंच सदस्य जितेन्द्र गंगावत द्वारा पक्षकारों को राजीनामा के लिए प्रेरित किया।

Disposal of 1042 cases in Lok Adalats

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned