मंडी व्यापारियों व सचिव के बीच गहराया विवाद, हड़ताल जारी

Dispute between Mandi traders and secretary, strike continues- जिला कलक्टर से मिले व्यापारी

By: gaurav khandelwal

Published: 07 Oct 2020, 07:25 PM IST

दौसा. कृषि उपज मंडी में कई दिनों से जारी गतिरोध अब और उलझ गया। पल्लेदारों की हड़ताल खत्म होने के बाद अब व्यापारियों व सचिव के बीच विवाद खड़ा हो गया। ऐसे में बुधवार को भी मंडी में कारोबार ठप रहा। मंडी के व्यापारियों ने जिला कलक्टर से मिलकर मामले से अवगत कराया।


Dispute between Mandi traders and secretary, strike continues


जानकारी के अनुसार सोमवार को मंडी सचिव ने पल्लेदारों से वार्ता कर कई दिनों से चल रही उनकी हड़ताल को खत्म करवा दी। वहीं व्यापारियों ने उनकी बात नहीं सुनने पर नाराजगी जताते हुए मंडी बंद रखने का ऐलान कर दिया। मंगलवार से मंडी खोलने को लेकर व्यापारियों व सचिव के बीच विवाद गहरा गया। गौरतलब है कि 24 सितम्बर से मंडी में हड़ताल चल रही है। प्रतिदिन करीब 1 लाख का राजस्व का नुकसान हो रहा है। वहीं करोड़ों का कारोबार प्रभावित हो चुका है। बाजरा सहित अन्य जिंस बेचने के लिए किसानों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।


मानगंज व्यापार एसोसिएशन अध्यक्ष राकेश चौधरी व मंत्री मुरारी धोंकरिया ने बयान जारी कर बताया कि किसान व व्यापारी प्रतिनिधियों के बिना हड़ताल समाप्त करना बदनीयती दर्शाता है। इसके विरोध में व्यापारियों ने कारोबार बंद रखा। मंगलवार को जब व्यापारी बाहर खड़े थे तो मंडी सचिव ने अभद्रता कर धमकी दी। बाद में एक व्यापारी की दुकान व अध्यक्ष के घर के बाहर जाकर भी अभद्रता की। इसको लेकर व्यापारियों ने निर्णय किया है कि मंडी सचिव का तबादला होने पर ही मंडी खोली जाएगी। मंडी सचिव के कार्य से व्यापारी भयभीत हैं। मांग नहीं मानने पर जिले की सभी मंडियां व दुकानें बंद की जाएंगी। जिला कलक्टर को भी ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की है।


इधर, मंडी सचिव संतोष मीना का कहना है कि उन पर लगाए सभी आरोप सरासर गलत व झूठे हैं। पल्लेदारों को पुरानी दर पर ही कार्य करने को राजी कर उन्होंने हड़ताल खत्म कराई। इसके बावजूद अध्यक्ष ने मनमानी करते हुए व्यापारियों को बहकाकर मंडी नहीं खोलने दी। हड़ताल से किसान परेशान हो रहे हैं। राजस्व का नुकसान हो रहा है। मामले से जिला कलक्टर को भी अवगत कराया गया है।


Dispute between Mandi traders and secretary, strike continues

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned