हथियार की नोक पर चिकित्सक परिवार को बंधक बनाकर घर में लूट

चिकित्सक से मारपीट कर किया घायल, राजमहल कॉलोनी में तड़के 4 बजे हुई वारदात

By: Mahesh Jain

Published: 08 Nov 2020, 06:08 PM IST

दौसा. जिला मुख्यालय पर आगरा रोड स्थित डेयरी के सामने राजमहल कॉलोनी में रविवार तड़के करीब चार बजे हथियारबंद आरोपियों ने चिकित्सक के घर में घुसकर जेवरात सहित करीब 6 लाख का माल लूट लिया। आरोपियों ने चिकित्सक को मारपीट कर घायल कर दिया तथा परिवार को बंधक बनाकर वारदात को अंजाम दिया। सूचना पर पुलिस ने जिले में नाकाबंदी कराकर आरोपियों की तलाश शुरू की। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिलसिंह चौहान सहित अन्य अधिकारियों ने घटनास्थल पहुंचकर मौका-मुआयना किया। एसपी ने भी अधिकारियों से मामले की जानकारी लेकर दिशा-निर्देश दिए।


कोतवाली थाना प्रभारी सुगन सिंह ने बताया कि घटना के संबंध में निजी अस्पताल संचालक डॉ. राजकुमार मीना पुत्र कमलराम ने रिपोर्ट पेश की है। इसमें बताया कि सुबह करीब चार बजे वे घर में पत्नी मीना देवी, शुभि व विहान के साथ सो रहे थे। इस दौरान तीन आरोपी घर में घुस आए और रिवॉल्वर व चाकू की नोक पर टेप से हाथ-पैर बांध दिए। इसके बाद आरोपियों ने पूरे मकान में तलाशी लेकर सोने के तीन मंगलसूत्र, हाथ का एक कंगन, कान के चार टॉप्स, चार अंगूठी, तीन एटीएम कार्ड, एक मोबाइल आदि लूट लिए। साथ ही एक लाख रुपए की मांग भी करने लगे तथा नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी। राशि नहीं देने पर मारपीट कर फरार हो गए। चाकू से वार कर हाथ, चेहरे, गले सहित कई जगह से चिकित्सक को जख्मी कर दिया। घटना की सूचना से पुलिस प्रशासन में हड़कम्प मच गया। तत्काल अधिकारी मौके पर पहुंचे तथा जिले में नाकाबंदी कर वाहनों की जांच शुरू की गई। जगह-जगह अपराधियों की तलाश के लिए दबिश दी गई।

मुंह पर कपड़ा व बोली से पहचान

पीडि़त ने पुलिस को बताया कि तीनों आरोपियों ने मुंह पर कपड़ा बांध रखा था। इनमें से एक आरोपी की बोली उत्तरप्रदेश या भरतपुर क्षेत्र की थी। वहीं दो स्थानीय भाषा में बात कर रहे थे। सूत्रों ने बताया कि वारदात के अनुसार लग रहा है कि किसी को मकान व उसमें रहने वालों के बारे में जानकारी थी। पहले रैकी कर फिर वारदात को अंजाम देने का अंदेशा है।


मकान में चल रहा था निर्माण
चिकित्सक के मकान का हाल ही में निर्माण हुआ है तथा फर्नीचर व फिनिशिंग का कार्य अभी चल रहा है। ऐसे में अंदर की ओर से मकान खुला हुआ था। निर्माण को लेकर गत कई माह से मकान में श्रमिकों का आना-जाना रहा है। पुलिस उनके बारे में भी पता लगा रही है। अस्पताल में किसी मरीज से पूर्व में कोई विवाद हुआ हो तो उसका भी पता लगाया जा रहा है।

एफएसएल ने जुटाए साक्ष्य
शहर में बड़ी वारदात होने पर पुलिस में हड़कम्प मच गया। मौके पर एमओबी व एफएसएल की टीम ने पहुंचकर साक्ष्य जुटाए। मकान के बाहर लॉन में आरोपियों के पदचिह्न मिले तथा अंदर आलमारियों सहित अन्य जगह से फिंगरप्रिंट आदि लिए गए। आसपास के सीसीटीवी फुटेज व मोबाइल लोकेशन आदि के आधार भी पुलिस जांच कर रही है।

भांकरी रोड पर मिला मोबाइल
लूट की वारदात के बाद पीडि़त का मोबाइल भांकरी रोड पर पड़ा मिला। पुलिस ने वारदात के बाद से आरोपियों द्वारा लूटा गया पीडि़त का मोबाइल सर्विलांस पर ले लिया था। जांच के दौरान मोबाइल की लोकेशन भांकरी रोड पर आने पर पुलिस वहां पहुंची, जहां पत्थरों के बीच मोबाइल पड़ा मिला।

बाइक से आए लुटेरे

पीडि़त के अनुसार घटना को अंजाम देने के बाद दो बाइकों की आवाज उनको सुनाई। इससे अंदेशा है कि लुटेरे बाइक से आए थे।

सहम गए पीडि़त
घटना के बाद चिकित्सक सहित बच्चे व पत्नी सहमे हुए थे। उनको अंदेशा नहीं था कि कोई इस तरह घर में घुसकर हथियार दिखाकर लूट ले जाएगा। घटना के बाद परिचितों का पीडि़त के घर तांता लग गया। हर किसी ने परिवार को ढांढस बंधाकर पुलिस से शीघ्र खुलासा कर आरोपियों को पकडऩे की मांग की।

इनका कहना है...

मामले को गंभीरता से लेकर एएसपी के निर्देशन में कोतवाली पुलिस की टीम जांच में जुटी है। शीघ्र ही आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा।
मनीष अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक दौसा

हथियार की नोक पर चिकित्सक परिवार को बंधक बनाकर घर में लूट
Mahesh Jain Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned