भाड़े को लेकर मंडी के आढ़तियों में ठनी

कामकाज ठप: प्रशासन की दखल के बाद शाम को ट्रक यूनियन ने दिए ट्रक

By: Rajendra Jain

Updated: 05 Mar 2021, 11:10 AM IST

दौसा. लालसोट शहर की कृषि उपज मंडी के आढ़तियों व ट्रक यूनियन के बीच भाड़े को लेकर ठन गई है। ट्रक यूनियन द्वारा कृषि जिंसों की लोडिंग के लिए ट्रक उपलब्ध नहीं कराए जाने के बाद ग्रेन मर्चेन्ट ऐशोसिएशन ने कृषि उपज मंडी में कामकाज बंद कर कर दिया। इससे मंडी में कृषि जिंसों की नीलामी व तुलाई का कार्य नहीं हो सका। किसानों की फसल आढ़तियों की दुकानों के आगे खुले आसमान तले पड़ी रही।
मंडी प्रशासन व उपखण्ड प्रशासन द्वारा हस्तक्षेप किए जाने के बाद ट्रक यूनियन द्वारा आगामी 15 मार्च तक भाड़े की वर्तमान दरों पर ही ट्रक उपलब्ध कराने पर सहमति जताते हुए ट्रकों की बुकिंग करना शुरू दिया। इसके बाद इस पूरे मामले का पटाक्षेप भी हो गया। इस दौरान मंडावरी कृषि उपज मंडी के व्यापार मंडल ने भी लालसोट ग्रेन मर्चेन्ट एसोसिएशन का समर्थन करते हुए दोपहर बाद जिंसों की नीलामी को बंद कर दिया। मामले को लेकर ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष सत्यनारायण गुप्ता ने उपखण्ड अधिकारी को दिए ज्ञापन में बताया है कि ट्रक यूनियन लालसोट ने व्यापारियों को गाड़ी देना बंद कर दिया है। इसके चलते माल को बाहर भेजे जाने का कार्य बंद हो गया है। इस कारण मंडी में आई किसानों की जिंस खराब हो रही है। ज्ञापन में बताया कि 30 जनवरी को ट्रक यूनियन पदाधिकारियों एवं व्यापारियों के बीच बैठक हुई थी। इसमें आगामी 16 मार्च से वर्तमान किराया से 4 प्रतिशत वृद्धि करने पर समझौता हुआ था। Embroidered in the mandis of the market with regard to the fare
यह समझौता करने के बाद भी ट्रक यूनियन मनमानी करते हुए गुरुवार से ही तक देना बंद कर दिया है। इसके चलते मंडी में सरसों समेत सभी जिंसों को बाहर भेजे जाने का कार्य रुक गया है। ज्ञापन में बताया कि इस समय मंडी में सरसों समेत अन्य जिंसों की बंपर आवक हो रही है। ऐसे में किसानों की फसल खुले में पड़े होने से नुकसान हो रहा है। मंडी में कामकाज नहीं होने से किसान किसी भी तरह का उपद्रव करते हैं या मंडी की तालाबंदी करते हैं तो उसकी जिम्मेदारी ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन की नहीं होगी। ज्ञापन में कहा गया है कि ट्रक यूनियन पदाधिकारियों से बात करते हुए उन्हें गाडियों की व्यवस्था कराई जाए, अन्यथा मंडी को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया जाएगा। Embroidered in the mandis of the market with regard to the fare
दूसरी ओर मामले को लेकर ट्रक यूनियन अध्यक्ष जयराम मीना ने बताया कि वे अभी लालसोट से बाहर है, कुछ ट्रक मालिकों ने उनके पीछे से भाड़े में और अधिक बढ़ोतरी की मांग करते करते हुए बुकिंग बंद करा दी है, जिसके चलते यह हालात पैदा हुए है। लालसोट पहुंचकर इन्हें समझाने का प्रयास करेंगे। बाद में ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष सत्यनारायण गुप्ता ने बताया कि प्रशासन के दखल दिए जाने के बाद ट्रक यूनियन ने आढ़तियों को ट्रक देना शुरू कर दिया है। इसके बाद मंडी में सामान्य कामकाज शुरू हो गया है।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned