fake doctor... झोलाछाप चिकित्सकों के खिलाफ अभियान शुरू

Haggle practitioners... कार्रवाई को लेकर हडक़ंप मचा

By: Rajendra Jain

Published: 05 Sep 2019, 11:57 AM IST

fake doctor... दौसा. मानपुर कस्बे सहित आसपास गांवों ंमें सक्रिय हुए झोलाछाप चिकित्सकों के खिलाफ चिकित्सा विभाग ने कार्रवाई शुरू कर दी है।
Haggle practitioners... जिला औषधि नियंत्रक अधिकारी रामकेश मीना, ब्लॉक सीएमएचओ डॉ. सुगनलाल मीना, सिकराय अस्पताल प्रभारी डॉ. रामकिशन मीना, मानपुर अस्पताल प्रभारी डॉ. नीरज बैरवा, नरेन्द्र शर्मा ने एक निजी अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। टीम ने अस्पताल में चिकित्सकों, अस्पताल रजिस्ट्रेशन, फायर विभाग का प्रमाण पत्र व दवाइयों की जांच की।विभाग की इस कार्रवाईझोलाछाप चिकित्सकों में हडक़ंप मच गया। कई झोलाछाप तो दुकानें बंद कर फरार हो गए।
ब्लॉक सीएमएचओ ने बताया कि एक निजी अस्पताल के रजिट्रेशन के कागजात लिए गए हैं। जिसकी जांच की जाएगी। अस्पताल में एक भी मरीज नहीं मिला है। दवाइयां व फायर विभाग का प्रमाण पत्र नहीं मिला है। सभी झोलाछापों के खिलाफ मामला दर्ज कराकर सजा दिलवाई जाएगी।
Haggle practitioners... गौरतलब है कि मानपुर में 19 अगस्त को बुखार से पीडि़त 11 वर्षीय सरदार सैनी निवासी मीनापाड़ा की झोलाछाप चिकित्सक द्वारा गलत इंजेक्शन लगाने से मौत हो गई थी। रिपोर्ट के बाद पुलिस ने आरोपी झोलाछाप डॉ. जय विश्वास को गिरफ्तार कर लिया था।



निगम को हादसे का इंतजार, दो दिन से टूटा पड़ा है बिजली का तार
निहालपुरा(बांदीकुई). ग्राम निहालपुरा के बैरवा मोहल्ले में दो दिन से बिजली का तार टूटा पड़ा है। निगम अधिकारियों को शिकायत भी दर्ज करा दी, लेकिन मौके पर जाकर तार की मरम्मत करना तक मुनासिब नहीं समझा। इसको लेकर बुधवार को ग्रामीणों ने निगम प्रशासन के खिलाफ नारे लगाकर विरोध प्रदर्शन किया।
ग्रामीणों ने बताया कि बैरवा मोहल्ले में दो दिन पहले बिजली का तार टूटकर जमीन पर गिर गया। इसकी सूचना निगमकर्मियों को दी गई, लेकिन कोई भी नुमाइंदा मौके पर नहीं पहुंचा। बिजली के तार में करंट प्रवाहित होने पर हादसे से बचाव के लिए ग्रामीणों ने स्वयं के स्तर पर तार को जमीन से हटाकर पेड़ के बांध दिया, लेकिन ढाणी में बिजली नहीं होने से लोगों का गर्मी में हाल बेहाल है। शाम होते ही अंधेरा छा जाता है। मवेशियों के लिए भी पानी का संकट बना हुआ है। ग्रामीणों ने बताया कि यदि शीघ्र तारों की मरम्मत कर सप्लाई चालू नही ंकी गई तो आन्दोलन पर उतारू होना पड़ेगा।

पानी की समस्या पर जताया विरोध
अरनिया-गुढ़लिया. ग्राम पंचायत देलाड़ी के मितरवाड़ी गांव में पानी की समस्या से परेशान होकर बुधवार को ग्रामीणों ने टंकी के समीप पहुंच कर जलदाय विभाग प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। ग्रामीण रामराय पंचोली ने बताया कि गत 7 माह से नलकूप नकारा हो जाने से टंकी में पानी नहीं आ रहा है। इससे टंकी सूखी पड़ी ई है। गांव में करीब साढ़े तीन सौ मवेशी हैं। लोगों का मुख्य व्यवसाय पशुपालन है। ऐसे में पानी की समस्या से ग्रामीण त्रस्त हैं। मजबूरन जेब ढीली करके टैंकर मंगवाकर काम चलाना पड़ रहा है। मवेशियों के लिए डेढ़ से दो किलोमीटर दूर से पानी लाना पड़ता है।
ऐसी स्थिति में पशुपालक मवेशियों को बेचने को मजबूर हो रहे हैं। इस बारे में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि, पंचायत एवं प्रशासन को कई बार अवगत करा चुके हैं, लेकिन उनके कानों पर जू तक नहीं रेंग रही है। उन्होंने बताया कि सात दिवस में समस्या का समाधान नहीं हुआ तो आन्दोलन पर उतारू होना पड़ेगा।
इस मौके पर रमेशचंद जांगिड़, विष्णु शर्मा, योगेश शर्मा, वार्ड पंच दुर्गालाल प्रजापत, गिर्राजप्रसाद प्रजापत, बम्बूराम, बाबूलाल शर्मा, गणेश प्रजापत, राजू शर्मा, कुलदीप शर्मा,गंगादेवी, भारती देवी, कौशल्या, सुशीला, लाली देवी, भौंरी व काली देवी ने भी विरोध जताया।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned