मुआवजे की दरों को लेकर काश्तकारों में रोष, एक्सप्रेस हाइवे का रुकवाया काम

Farmers stop work of Delhi-Mumbai express highway: मुआवजे की दरें बढ़े बिना नहीं मिलेगा जमीन पर कब्जा, बाणे-का-बरखेड़ा के समीप एक्सप्रेस हाइवे का रुकवाया काम, मुआवजे के मामले में किसानों की सभा आयोजित

By: gaurav khandelwal

Published: 01 Jul 2019, 08:01 AM IST

भांडारेज. समीपवर्ती भांडारेज मोड़ स्थित आश्रम पर रविवार दोपहर दिल्ली-मुम्बई हाइवे Delhi-Mumbai express highway के लिए अधिगृहित की जाने वाली भूमि के मुआवजे की दरों में बढ़ोतरी को लेकर काश्तकारों की सभा हुई। जिले में होकर निकल रहे एक्सप्रेस हाइवे के मामले में जो मुआवजा राशि स्वीकृत की गई हैं, इसके लिए काफी लम्बे समय से काश्तकार विरोध कर रहे हैं।रविवार को एक्सप्रेस हाइवे का बाणा का बरखेडा के समीप हो रहे काम को भी काश्तकारों ने रूकवा दिया। आमसभा की अध्यक्षता रामकिशोर ने की। वर्तमान में दी जा रही मुआवजे की दरों को लेकर काश्तकारों में रोष नजर आया।

Farmers stop work of Delhi-Mumbai express highway on compensation rate

 

उन्होंने कहा कि जो दरें वर्तमान में निर्धारित की गई है, वह बाजार भाव से काफी कम है ऐसे में काश्तकारों के साथ किया जा रहा है अन्याय किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा इस दौरान जिले की तहसील में 15-15 सदस्यों की कार्यकारिणी का गठन किया गया है। जो आने वाले दिनों में मुआवजे को लेकर होने वाले आंदोलन की रूपरेखा तय करेंगे। जीतू माल श्यालावास ने बताया कि काश्तकारों की जो भूमि अधिग्रहण की जा रही है, उसके लिए जो मुआवजा की दरें प्रशासन द्वारा निर्धारित की गई है वह बाजार भाव से काफी कम है

 

 

गुर्जर नेता हिम्मतसिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार किसानों की मागों पर पूरा करने के बाद ही एक्सप्रेस वे का काम शुरू करें। ऐसा नहीं किया तो तो भूमि का किसी भी कीमत पर पजेशन नहीं दिया जाएगा।मुआवजे की दरों की बढ़ोतरी को लेकर जिलों के किसानों से भी सम्पर्क कर रहे है।शीघ्र ही किसान महापंचायत का आयोजन होगा। जिसमें देशभर के किसान नेताओं को आमंत्रित किया जाएगा।

 

 

गुर्जर नेता मनफूल सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा जो मुआवजे की राशि स्वीकृत की गई है, वह बाजार भाव की तुलना में कहीं पर भी नहीं आ रही है। ऐसे में प्रशासन को इस पर आवश्यक कदम उठाते हुए एक्सप्रेस हाइवे का कार्य शुरू करने से पहले किसानों के मुआवजे की राशि में बढ़ोतरी करनी चाहिए। सभा को लेकर भाण्डारेज मोड़ पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। सभा के दौरान बरखेड़ा गांव के किसान ने बताया कि बाण गंगा नदी में एक्सप्रेस वे का कार्य करने वाली कम्पनी द्वारा बोरिंग की जा रही है। उसे रोका जाए। इस पर गुर्जर नेताओं ने सहमति दी और उनकी घोषणा पर सैकड़ों किसान बाण गंगा नदी पर पहुंच गए।

 

 

 

इससे पुलिस प्रशासन में हडक़ंप मच गया चार थानों का जाप्ता किसानों के पीछे-पीछे चला।काश्तकारों ने बाणगंगा नदी में बोरिंग खुदाई कर रही मशीन को रूकवा दिया। इसके बाद किसान वापस आ गए।मुआवजे को लेकर सांसद जसकौर मीणा से भी मिलकर ज्ञापन देने की बात कही। बनवारी बरखेड़ा लक्ष्मण गुर्जर धानका बध, सुरेश मीणा, बिहारीलाल, छुट्टनलाल मीणा, बुधसिंह गुर्जर, भगवानसहाय, बनवारीलाल, रेवड माल, बच्चू सिंह, बन्नासिंह गुर्जर, राधामोहन शर्मा, मोरपाल मीणा, छाजूलाल मीणा, चेतराम, घासीलाल सैनी, रामस्वरूप शमार्, रामधन आभानेरी सहित अन्य ने भी विचार व्यक्त किए।

Farmers stop work of Delhi-Mumbai express highway on compensation rate

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned