बजरंग मैदान से हरियाली गायब, पेयजल भी मयस्सर नहीं

नगर परिषद की अनदेखी

By: gaurav khandelwal

Published: 16 May 2018, 08:54 AM IST

दौसा. शहर के बीचों-बीच स्थित बजरंग मैदान नगर परिषद प्रशासन की अनदेखी का शिकार बना हुआ है। वर्तमान में मैदान में हरी घास तो दिखाई नहीं देती है, लेकिन गंदगी ज्यादा पसरी नजर आती है। कहने को तो नगर परिषद ने मैदान पानी के लिए टैंकर डालने के निर्देश दे रखे हैं, लेकिन हकीकत में ऐसा हो नहीं रहा। हरियाली गायब होने से मैदान की रौनक भी फिकी होने लगी है। खास बात यह है कि इस मैदान में मुख्यमंत्री से लेकर स्थानीय अधिकारी-जनप्रतिनिधि आए दिन आते रहते हैं। इसके बावजूद नगर परिषदकर्मी कभी इस मैदान की सुध ही नहीं लेते हैं। सवा माह से तो रख-रखाव के लिए ठेकेदार भी नहीं है।

 


बजरंग मैदान में सुबह-शाम हजारों लोग भ्रमण के लिए आते हैं, लेकिन यहां पर पीने के पानी की व्यवस्था है और ना ही बैठने के लिए हरी घास मिलती है। ऐसे में लोग भ्रमण कर लौट जाते हैं। प्यास लगने पर घरों को जाना पड़ता है या फिर अधिकतर लोग बोतल में पानी लेकर आते हैं। बच्चे भी मिट्टी में ही खेलने को मजबूर हैं। मैदान में मनोरंजन के लिए परिषद ने फिसलपट्टी, झूले आदि भी नहीं लगवा रखे हैं। सुबह व शाम को कई लोग योग की कक्षाएं चलाते हंै, लेकिन उनको बैठने के लिए उचित व्यवस्था नहीं है।

 

 

लाखों का बजट, फिर भी ये हाल


लोगों का कहना है कि प्रतिवर्ष बजरंग मैदान की रखरखाव के नाम पर लाखों का बजट उठाया जाता है, लेकिन फिर भी दुर्दशा हो रही है। मैदान के क्षेत्र में आधा दर्जन से अधिक बोरिंग व हैण्डपंप हैं, लेकिन सब खराब हैं। ना तो स्थानीय पार्षद ध्यान देते हैं और ना ही अधिकारी। जलदाय विभाग भी हैण्डपंपों की मरम्मत नहीं करा रहा। मैदान में बना सामुदायिक भवन व स्नानागार भी जर्जर होने लगा है। मैदान में सफाई व सुरक्षा की माकूल व्यवस्था नहीं होने से रात को समाजकंटक यहां पर बीड़ी-सिगरेट, गुटखे के पाउच, पानी व शराब की बोतलें छोड़ जाते हैं।

 

 

शीघ्र सुधार होगा


मार्च में मैदान के रख-रखाव की निविदा खत्म होने से यह परेशानी हुई। अब नए टेंडर कर कार्यादेश दे दिया है। शीघ्र ही मैदान की हालत में सुधार होगा।
केएल मीना, अधिशासी अभियंता, नगर परिषद दौसा

gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned