जीएसएस तैयार फिर भी बिजली सप्लाई शुरू नहीं

जीएसएस तैयार फिर भी बिजली सप्लाई शुरू नहीं

Rajendra Kumar Jain | Publish: Apr, 23 2019 11:11:28 AM (IST) | Updated: Apr, 23 2019 11:11:29 AM (IST) Dausa, Dausa, Rajasthan, India

- गर्मी शुरू होने के साथ ही फाल्ट से होने लगी बिजली गुल, - जीएसएस निर्माण पर हुए थे करीब ढाई करोड़ रुपए खर्च

बांदीकुई. शहर में बिजली सप्लाई सुचारू रखने एवं फाल्ट से निजात पाने के लिए श्यालावास खुर्द में जीएसएस का निर्माण भी कर दिया गया, लेकिन अभी तक जीएसएस निगम के सुपुर्द नहीं होने से बिजली सप्लाई चालू नहीं हो पा रही है। जबकि यह जीएसएस गत 7 मार्च 2019 चालू किया जाना तय था, लेकिन अभी तक जीएसएस के चालू नहीं होने से गर्मी के शुरू होने के साथ ही उपभोक्ताओं को खासी परेशानी झेलनी पड़ रही है।
जानकारी के अनुसार इंटीग्रेटेड पावर डवलपमेंट योजना (आईपीडीएस) के तहत शहरी विद्युत वितरण व्यवस्था में सुधार कार्य पर करीब 2.42 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। इसके लिए एक कंपनी से अनुबंध के बाद श्यालावास खुर्द में 33/11 केवी के नए जीएसएस का निर्माण भी करा दिया। कुछ जगहों पर अण्डरग्राउण्ड केबल भी बिछाई जा चुकी है, लेकिन अभी तक सम्बंधित कंपनी की ओर से निगम को सुपुर्द नहीं किया गया है। बताया जा रहा है कि संवदेक का भुगतान लम्बित होने से सुपुर्द नहीं किया जा रहा है। इसके चलते जीएसएस चालू होने में देरी हो रही है।
यहां लगाए गए हैं पॉवर ट्रांसफॉर्मर
बिजली निगम की ओर से जहां ट्रांसफॉर्मरों पर लोड़ अधिक है और वोल्टेज कम- अधिक होने की समस्या है। ऐसी जगहों का सर्वे करके चिन्हिकरण किया गया। इसमें प्रमुख रूप से बरसाना, गांधी नगर (मीणा छात्रावास के समीप), कुम्हार मोहल्ला, बडिय़ाल रोड खुर्रा का बास, जोधपुरिया, वृंदावन विहार कॉलोनी सिकंदरा रोड, झालानी बगीची के पास एवं कुटी पर पॉवर ट्रांसफॉर्मर लगाए गए हैं। इसमें 100 एवं 160 किलोवॉट के ही ट्रांसफॉर्मर लगाए गए हैं। खास बात यह है कि वर्तमान में शहर में करीब 200 ट्रांसफॉर्मर लगे हुए हैं, लेकिन लोड़ बढऩे से बिजली सप्लाई में वोल्टेज की समस्या उपभोक्ताओं के लिए परेशानी बनी हुई थी, लेकिन यदि शीघ्र जीएसएस को चालू कर दिया जाए। तो उपभोक्ताओं को गर्मी में बिजली सप्लाई बाधित होने से होने वाली समस्या से निजात मिल सकेगी।
अलग से ये बनाए हैं फीडर
बिजली निगम सूत्रों के मुताबिक श्यालावास खुर्द में 33/11 केवी के जीएसएस का निर्माण होने के साथ ही तीन नए फीडरों का भी निर्माण किया गया है। इसमें मुख्य बाजार एवं बाढ़बगीची गुढ़ारोड का अलग फीडर व जलदाय विभाग पम्प हाउस एवं नलकूपों के लिए अलग फीडर बनाया गया है। क्योंकि जलदाय विभाग का अलग से फीडर नहीं होने से ऐसे में तेज अंधड़ आने व फॉल्ट आने पर शहर की बिजली गुल होने के साथ ही जलदाय विभाग की बोरिंगें भी बंद हो जाती थी। इससे पानी सप्लाई भी बाधित होने से लोगों को खासी परेशानी झेलनी पड़ती है। ऐसे में अलग से फीडऱ बनाए जाने से पानी सप्लाई में भी सुधार होगा।
शीघ्र चालू किया जाएगा जीएसएस
इंंटीग्रेटेड पावर डवलपमेंट योजना के तहत पॉवर ट्रांसफॉर्मर स्थापित कर दिए गए हैं। जीएसएस का निर्माण कार्य भी पूरा हो गया है, लेकिन जीएसएस निगम को सुपुर्द नहीं किया गया है। वहीं कुछ सिविल कार्य भी किया जा रहा है। निगम की ओर से संवेदक को शीघ्र कार्य पूरा कर सुपुर्दगी के लिए अवगत करा दिया है। जीएसएस के चालू होने से बिजली सप्लाई में भी सुधार होगा।- गुलाबप्रसाद, सहायक अभियंता बिजली निगम बांदीकुई

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned