गुर्जर आरक्षण आंदोलन: दौसा जिले में धारा 144 लागू

गुर्जर आरक्षण आंदोलन: दौसा जिले में धारा 144 लागू

Mahesh Jain | Publish: Feb, 09 2019 07:19:31 PM (IST) | Updated: Feb, 09 2019 08:06:04 PM (IST) Dausa, Dausa, Rajasthan, India

जिला मजिस्ट्रेट अविचल चतुर्वेदी ने जारी किए आदेश, अग्रिम आदेश तक प्रभावशील रहेगा आदेश

दौसा. जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्टे्रट अविचल चतुर्वेदी ने जिले में गुर्जर आरक्षण आंदोलन की आशंका को देखते हुए पूरे जिले में धारा 144 लागू कर दी है। जिला कलक्टर ने बताया कि पूर्व में हुए आंदोलनों के मद्देनजर दौसा जिले में भी गुर्जर बाहुल्य क्षेत्र व देहाती क्षेत्र तक भी प्रभावित होने की सम्भावना है।

इससे जिले की सार्वजनिक सम्पत्ति में तोड़ फोड़, आवागमन में बाधा, रेल, सड़क यातायात बाधित करना, सरकारी कार्यालय, पुलिस थानों, प्रशासनिक कार्यालय व अन्य महत्वपूर्ण संस्थानों को हानि पहुंचाने एवं भीड़भाड़ के क्षेत्रों में उपद्रव, आमजन से छेड़छाड़ आदि की सम्भावना को मद्देनजर दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा-144 के अन्तर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए दौसा जिले की सीमा में धारा 144 लागू करने के आदेश जारी किए हंै। यह आदेश 9 फरवरी से तुरन्त प्रभाव से लागू होगा तथा अग्रिम आदेशों तक प्रभावशील रहेगा। यह आदेश 9 फरवरी 2019 को दोपहर 1 बजे जारी किया गया।

हथियार लेकर नहीं घूम सकते हैं
जिला मजिस्ट्रेट ने आदेश दिए हैं इस दौरान कोई भी व्यक्ति व्यक्तिगत रूप से अथवा सामूहिक रूप से अपने साथ सार्वजनिक स्थान पर किसी भी प्रकार के आग्नेयास्त्र जैसे रिवाल्वर, पिस्टल, राइफल बन्दूक तथा अन्य धारदार हथियार गण्डासा, फरसा, तलवार, भाला, कृपाण, चाकू, छुरी, बरछी, गुप्ती, कटार, धारिया, बाघनख (शेरपंजा) जो किसी भी धातू का बना हो आदि तथा विधि द्वारा प्रतिबन्धित हथियार और मोटे घातक हथियार एवं अस्त्र लाठी आदि को ना ही साथ लेकर चलेगा एवं ना ही सार्वजनिक स्थानो पर प्रदर्शन करेगा न ही उपयोग करेगा।

किसी की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचे
जिला मजिस्टे्रट ने कहा कि कोई भी व्यक्ति आपत्तिजनक अथवा किसी जाति वर्ग / समुदाय / सम्प्रदाय विशेष को ठेस पहुंचाने वाले पोस्टर, पम्पलेट या अन्य कोई सामग्री का प्रकाशन नहीं करेगा। कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार का कोई व्यक्तव्य, सम्प्रेषण जिससे किसी जाति वर्ग, समुदाय,सम्प्रदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचे या सामुदायिक,साम्प्रदायिक सदभाव की स्थिति पर विपरीत प्रभाव पड़े, जारी नहीं करेगा। समाचार पत्रों के माध्यम से सन्देश, दूरभाष संदेश, मोबाईल संदेश, एसएमएस, ई-मेल, सोशल नेटवर्किग वेबसाइटस आदि के माध्यम से किये गए इस प्रकार के सम्प्रेषण भी प्रतिबन्धित रहेंगे।


अफवाह फैलाई तो होगी कार्रवाई
जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि अफवाह फैलाने वाले व्यक्तियों के विरूद्घ इस आदेश की अवहेलना मानते हुए दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी। उक्त आंदोलन में भाग लेने वाले प्रत्येक व्यक्ति द्वारा उच्च न्यायालय द्वारा एस.बी. सिविल रिट पिटीशन, एस.बी. सिविल रिट मिसलेनियस एप्लीकेशन में पारित आदेश / दिशा निर्देशों की पूर्णतया: पालना करेंगे।

एक स्थान पर पांच लोग नहीं होंगे एकत्रित
उन्होंने बताया कि जिला क्षेत्र में पडऩे वाले राष्ट्रीय राजमार्ग एवं मेगा हाइवे एवं समस्त राजमार्ग तथा समस्त मुख्य जिला सड़कें अन्य समस्त मुख्य मार्गों व जिले की सीमा में से गुजरने वाली रेलवे पटरी (टे्रक) पर तथा उनके दोनों तरफ एक-एक किलोमीटर की सीमा मे 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों को एकत्र्ति होने पर प्रतिबन्ध होगा। समस्त सार्वजनिक स्थलों पर भी 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों को एकत्रित होने पर प्रतिबन्ध होगा।

अनुमति के बिना नहीं होगी सभा
प्रतिबन्धित क्षेत्र में किसी भी प्रकार की सभा तथा इस स्टेज, टैंट, पाण्डाल आदि की व्यवस्था नहीं करेंगे। सार्वजनिक बैठक का आयोजन सम्बन्धित सक्षम अधिकारी की पूर्व अनुमति के बिना नहीं किया जा सकेगा। यह प्रतिबंध बारात एवं शवयात्रा पर लागू नहीं होगा। यदि किसी ने उल्लंघन की श्रेणी में मानते हुए उसके विरुद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 18 8 के प्रावधानों के अन्तर्गत कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

पुलिस-प्रशासन रहा मुस्तैद, प्रमुख मार्गों पर किया फ्लैग मार्च

बांदीकुई. पुलिस व प्रशासन गुर्जर आरक्षण आन्दोलन को लेकर शनिवार को पूरी तरह मुस्तैद दिखाई दिया। थाना प्रभारी राजेन्द्र मीणा के नेतृत्व में थाने से फ्लैग मार्च शुरू किया। इसमें अधिकारी एवं सैंकड़ों की संख्या में जवान शामिल थे। वहीं ऐहतियात के तौर पर अतिरिक्त जाब्ता भी तैनात किया गया है। पुलिस व प्रशासन पूरी तरह क्षेत्र पर नजर बनाए हुए दिखाई दिया। वहीं लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने भी प्रेरित करता दिखाई दिया। इसके अलावा रेलवे सुरक्षा बल एवं राजकीय रेलवे पुलिस भी रेलवे स्टेशन पर तैनात दिखाई दी। रेलवे सुरक्षा बल के जवान रेलवे ट्रेक की सुरक्षा में गश्त करते दिखाई दिए। अरनिया व कोलवा स्टेशन पर भी रेलवे सुरक्षा बल के जवान तैनात रहे।

गुर्जर आरक्षण आंदोलन: दौसा जिले में धारा 144 लागू

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned