दौसा में पौने तीन इंच बारिश, कई तलाईयां टूटी, एनिकटों पर चली चादर, राजस्थान में ‘भारी से भारी’ बारिश की चेतावनी

दौसा में पौने तीन इंच बारिश, कई तलाईयां टूटी, एनिकटों पर चली चादर, राजस्थान में ‘भारी से भारी’ बारिश की चेतावनी

Dinesh Saini | Publish: Sep, 04 2018 01:45:49 PM (IST) | Updated: Sep, 04 2018 01:50:43 PM (IST) Dausa, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news/

जयपुर। देश भर से मानसून के जाने का भले ही वक्त आ गया हो लेकिन यह जाते-जाते भी कुछ इलाकों में भारी बारिश करने वाला है। मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के अनुसार आने वाले तीन दिनों में राजस्थान के कुछ इलाकों में ‘भारी से भारी’ बारिश, मध्यप्रदेश के कुछ क्षेत्रों और उत्तर प्रदेश के अधिकतर इलाकों में भारी बारिश की संभावना है।

 

दौसा में पौने तीन इंच बारिश
दौसा के नांगल राजावतान क्षेत्र में पौने तीन इंच बारिश से कई तलाईयां टूटी गई। कई एनिकटों पर चादर चल गई है। गांव रामथला तलाई टूटने से प्यारीवास से झिलमिली जा रही सडक़ टूटने से कई गांवो का सम्पर्क टूट गया है। कानपुरा एनिकट पर भी चादर चल रही है। खेतों में पानी भरने से फसलों को नुकसान हुआ है। जिससे किसानों की चिंता बढ़ गई है।

 

नागौर में बारिश से फसलों को मिली संजीवनी
नागौर में बारिश होने से शहर जहां तरबतर रहा, वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में काश्तकारों की सूखती फसलों को जीवनदान मिल गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश का इंतजार करते श्तकारों में उत्साह की स्थिति बनी रही। कृषि विभाग के अनुसार कुचामन, मकराना, डीडवाना, जायल, परबतसर में सोमवार को भी रिमझिम बारिश हुई। मंगलवार को भी रिमझिम होने से फसलों को जीवनदान मिला है। जिले में मंगलवार सुबह हुई रिमझिम से मौसम बदला-बदला सा रहा। सुबह करीब पौने सात बजे पहले हल्की बूंदाबांदी हुई, इसके बाद फिर इसमें तेजी आ गई। हल्की धीमी बरसात की स्थिति होने से सडक़ों पर पानी भरने के साथ ही मार्गों के दोनों ओर जहां पानी भरे नजर आए, वहीं बारिश के बचाव के लिए पैदल व वाहन चालक छातों में रहे। कलक्ट्रेट मार्ग, पुराना हॉस्पिटल, चौराहा, निर्माणाधीन ओवरब्रिज के पास, मानासर चौराहा,मूण्डवा चौराहा, केन्द्रीय बस स्टैंड मार्ग, स्टेशन रोड सहित रिहायशी क्षेत्रों में विभिन्न जगहों में टूटे मार्गों पर एवं इसके दोनों ओर पानी भरे रहने के कारण लोगों को अत्याधिक परेशानी भी हुई।

 

यहां मूसलाधार की आशंका
मानसून के आखिरी चरण में मध्यप्रदेश में जिस हिसाब से बारिश हो रही है उससे वहां के हालात काफी असमान्य हो चुके हैं। मौसम विभाग ने साफ किया है कि इन इलाकों में काफी बारिश होगी। कुछ यही हाल उत्तर प्रदेश का भी है। जहां पूर्वी और पश्चिमी हिस्से में भारी बारिश की चेतावनी बताई गई है। हिमाचल प्रदेश और पश्चिम बंगाल के गंगा के तटवर्ती क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर मूसलाधार बारिश की आशंका जतायी गई है। इसके अतिरिक्त पूर्वोत्तर राज्यों में भी भारी बारिश का भी अनुमान जाहिर किया गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned