पीडि़तों को न्याय व प्रकरणों का करें निस्तारण- शर्मा

राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष दौसा आए : Chairman of Human Rights Commission

दौसा. राजस्थान राज्य मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति महेश चन्द्र शर्मा ने कहा कि सभी विभागीय अधिकारी आयोग के बकाया प्रकरणों का शीघ्रता से निराकरण कर पीडि़तों को लाभान्वित करवाएं सुनिश्चित करें। Chairman of Human Rights Commission


मंगलवार को सर्किट हाउस दौसा में राजस्थान राज्य मानव अधिकार आयोग के लम्बित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए शर्मा ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र से किसी भी व्यक्ति का राजस्थान राज्य मानव अधिकार आयोग में प्रकरण दर्ज है, तो सम्बन्धित विभाग के अधिकारी सम्बन्धित प्रकरण की जांच कर पीडितों को तत्काल राहत प्रदान करने का काम करे। Chairman of Human Rights Commission

उन्होंने बताया कि वर्तमान में दौसा जिले के 10 प्रकरण बकाया है, सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा अभी 5 प्रकरणों के जवाब प्रस्तुत कर दिए हंै तथा शेष प्रकरणों के जवाब बसवा में पंचायत चुनाव के बाद दिए जाएंगे।


समीक्षा बैठक में जिला कलक्टर अविचल चतुर्वेदी, जिला पुलिस अधीक्षक प्रहलाद सिंह कृष्णियां, अतिरिक्त जिला कलक्टर लोकेश कुमार मीना, उप जिला कलक्टर दौसा पुष्कर मित्तल, महुवा एसडीएम परसराम मीना, लालसोट एसडीएम जेपी गुर्जर, रामगढ पचवारा एसडीएम सविता मल्होत्रा आदि मौजूद थे। Chairman of Human Rights Commission


जोनल मजिस्टेट दायित्वों का पालन करें—उप जिला निर्वाचन अधिकारी
दौसा. उप जिला निर्वाचन अधिकारी लोकेश कुमार मीना ने कहा कि पंचायत समिति बसवा में सरपंच एवं वार्ड पंचों के चुनाव स्वतंत्र,निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण सम्पन्न करवाने के लिए सभी नियुक्त जोनल मजिस्टे्रट अपनी सजगता से कार्य करें।


मंगलवार को कलक्टे्रट सभागार में आयोजित जोनल मजिस्टे्रटों के प्रशिक्षण के दौरान उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने यह बात कही। उन्होंने प्रशिक्षार्थियों को आचार संहिता की पालना के लिए अपने क्षेत्रवार सभी तैयारियों का अवलोकन करने, बूथ के आस-पास पड़ौसियों के सम्पर्क नम्बर भी आपात स्थिति से बचने के लिए रखे। क्षेत्र में भयग्रस्त मतदाताओं को चिह्नित कर उन्हें सम्बल प्रदान करते हुए निष्पक्ष मतदान करने के लिए पुलिस के साथ क्षेत्र में भ्रमण करेंगे।


उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जोनल मजिस्टे्रट के मतदान पूर्व के दायित्वों को समझते हुए मतदान केन्द्र पर पानी, छाया, बिजली, रैम्प, शौचालय, दूरभाष की उपलब्ध करवाना, मतदान के लिए मतदाताओं को जागरूक करने एवं पोलिंग पार्टी के मतदान बूथ पर पहुंच सुनिश्चत कराए। क्षेत्र में भयमुक्त वातावरण के लिए पुलिस गश्ती दलों द्वारा लगातार भ्रमण किया जाए। नए मतदान केन्द्रों का व्यापक प्रचार - प्रसार कराया जाए। मतदान के दौरान आने वाली परेशानी से बचने के लिए सभी कार्मिकों के मोबाइल नम्बर अपने पास रखें एवं मतदान प्रक्रिया के दौरान पल-पल की रिपोर्ट अपडेट करें।

मॉकपोल के दौरान चुनाव प्रक्रिया में आ रही कठिनाइयों को समय रहते निवारण करना सुनिश्चित करें। मॉकपोल को चैक लिस्ट से स्पष्ट करें। मतदान प्रक्रिया एवं मतगणना के दौरान जोनल मजिस्टे्रट को पोलिंग एजेन्ट के साथ समन्वयक बनाकर चुनाव का कार्य सम्पादित कराएं। मतदान समाप्ति के पश्चात जोनल मजिस्टे्रट द्वारा आरओ से सम्पर्क कर मतपेटी, ईवीएम को निर्धारित कमरे में रखवा कर उसे सील करें।


प्रशिक्षण में सहायक प्रभारी राजीव शर्मा, एसएल एमटी पीयूष शर्मा, पवन कटारिया एवं ओमप्रकाश शर्मा द्वारा भी सरपंच व उप सरपंच चुनाव के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned