लूट की घटना के विरोध में बंद रहा मंडावरी

- ग्रामीणों ने किया विरोध-प्रदर्शन

लालसोट. मंडावरी कस्बे में एक सर्राफा की दुकान से दिनदहाड़े हुई लूट की घटना को लेकर शुक्रवार को कस्बे के ग्रामीणों व दुकानदारों का गुस्सा फूट पड़ा। घटना के विरोध में दोपहर 12 बजे तक कस्बे के सभी बाजार बंद रहे और ग्रामीणों ने धरना-प्रदर्शन करते हुए घटना के खुलासे की मांग की।
गौरतलब है कि गुरुवार दोपहर मंडावरी कस्बे के सीताराम मंदिर के पास विष्णु कुमार सोनी की सर्राफा की दुकान से अज्ञात बाइक सवार युवक करीब दो लाख रुपए के जेवरात लूट कर फरार हो गए थे। इस घटना को लेकर शुक्रवार सुबह से ही कस्बे के लोगोंं में रोष देखा गया और बाजार पूरी तरह बंद रहे। ग्रामीणों की भीड़ कस्बे के मुख्य बाजार में जमा हो गई। ग्रामीणों का कहना था कि दिनदहाड़े हुई लूट की वारदात ने कस्बे में आम जन की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं। ग्रामीण मौके पर पुलिस के उच्चाधिकारियों को बुलाने, लुटेरों की गिरफ्तार कर माल बरामद करने की मांग करते हुए धरने पर बैठ गए।
ग्रामीणों का कहना था कि कस्बे में वारदात रोकने के उचित सुरक्षा प्रबंध किए जाए, सभी प्रमुख स्थानों पर सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था लगाए जाए, मंडावरी कस्बे में पुलिस चौकी खोल कर पांच पुलिसकर्मियों को नियुक्त किया जाए। मौके पर मंडावरी थाना पुलिस के एएसआई भीखाराम, रघुराज सिंह, हैड कांस्टेबल देवेंद्र कुमार, प्रेम प्रकाश पहुंचे और ग्रामीणों के साथ वार्ता की। पुलिस ने बताया कि तीन टीमों का गठन कर लुटेरों की तलाश की जा रही है। बाद में पुलिसकर्मियों ने दस दिन मेें घटना का खुलासा करने का भरोसा दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने धरना-प्रदर्शन समाप्त कर दिया और बाजार भी खुल गए।
इस दौरान सरपंच रामबिलाश मीना, पूर्व उप प्रधान बद्रीलाल मीना, महेश सोनी, कमलेश चौधरी, राजमल सोनी, दीनदयाल सोनी, मदन सोनी, प्रहलाद पटवारी, पुरुषोत्तम गुप्ता, धर्मेन्द्र चौधरी, अभिषेक गोयल, रामधन लाकडा, कमल मीना, भरतलाल मीना, अमित गौतम,पुरुषोत्तम अग्रवाल, विष्णु गोयल, सुभाष गुप्ता समेत कई जने मौजूद रहे।(नि.प्र)

Rajendra Jain Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned