विवाहिता का शव मिला, दहेज हत्या का मामला दर्ज

Married woman's body found, dowry murder case registered निर्झरना गांव का है मामला

By: Rajendra Jain

Published: 11 Jun 2021, 10:08 PM IST

दौसा. लालसोट के निर्झरना गांव की देवरा नीचे गुर्जर ढाणी में शुक्रवार सुबह एक विवाहित का शव घर में झूलता मिला। मामले को लेकर मृतका के पीहर पक्ष ने ससुराल पक्ष के लोगों पर दहेज के खातिर विवाहिता के साथ मारपीट करते हुए फंदे पर लटकाकर मारने की प्राथमिकी दर्ज कराई है। लालसोट थाना प्रभारी राजवीर सिंह राठौड़ ने बताया कि निर्झरना गांव निवासी पिंकी (२२) पत्नी रामराज गुर्जर का शव शुक्रवार सुबह घर में झूलता मिलने की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटना स्थल का जायजा लिया।

कुछ देर बाद मौके पर जिला मुख्यालय से एमओवी व एफएसएल टीम भी पहुंच गई और टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए। थाना प्रभारी ने बताया कि मामले को लेकर मृतका के पिता मुकेश गुर्जर निवासी बिचपुरी थाना बामनवास ने प्राथमिकी दर्ज कराई है कि उसकी पुत्री की शादी दो साल पूर्व हुर्ई थी। विवाह के बाद उसका पति नशे में पुत्री के साथ मारपीट करता था और कई बार तो घर से भी बाहर निकाल देता था। इसके अलावा रामराज के पिता भी कई बार दहेज को लेकर उलहाना दे चुके हैं। पुलिस ने मेडीकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को पीहर पक्ष के सुपुर्द कर दिया है और दहेज हत्या का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पति के खिलाफ तीन तलाक का मामला दर्ज कराया
दौसा. महिला पुलिस थाने में दौसा निवासी एक महिला ने अपने पति के खिलाफ जुबानी तीन तलाक देने का मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने मुस्लिम एक्ट 2019 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। यह दौसा जिले का पहला तीन तलाक का मामला बताया जा रहा है।
महिला थाना प्रभारी किताब देवी ने बताया कि दौसा निवासी हसीन बानो ने अपने पति जयपुर के न्यू आरटीओ कार्यालय के समीप रहने वाले सनवर खान व तलाक में गवाह रहे दो अन्य के खिलाफ मुस्लिम एक्ट 2019 व आईपीसी की धारा 420/120 बी में मामला दर्ज कराया है। रिपोर्ट में बताया कि उसकी शादी जयपुर निवासी सनवर खान के साथ दौसा के एक मैरिज गार्डन में 13 जून 2010 में मुस्लिम रीतिरिवाजों से हुई थी।

उसके तीन बेटियां भी हो गई। महिला ने आरोप लगाया कि उसके पति सहित अन्य उसको शुरू से ही दहेज के लिए परेशान करते आ रहे थे। बाद में ससुराल वालों ने उसको घर से निकाल दिया। वर्ष 2020 में दहेज के लिए प्रताडि़त करने का मामला दर्ज करा दिया था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ न्यायालय में चालान भी पेश कर दिया। इसके बाद भी पीडि़ता अपने ससुराल जाने के लिए तैयार थी। इसके बाद आरोपी पति ने जुबानी तलाक देकर महिला के घर डाक से नोटिस भेज दिया। सर्वोच्च न्यायालय के जुबानी तलाक के रोक के आदेश के बाद भी पति ने 20 मार्च 2020 को पहला व 7 मई 2021 को दूसरा तलाक नोटिस महिला के घर भेज दिया।
महिला ने 19 मई 2021 को पति व गवाहों को नोटिस भेज कर अवगत करा दिया कि वह इस सम्बन्ध में पुलिस थाने में मामला दर्ज कराएगी।

महिला ने बताया कि वह रिपोर्ट लेकर महिला थाने गई, लेकिन मामला दर्ज नहीं किया गया तो उसने इस्तगासे के माध्यम से पुलिस अधीक्षक रिपोर्ट भेजी। बाद में न्यायालय के माध्यम से महिला थाने में मामला दर्ज किया गया। तीन तलाक का यह दौसा का पहला मामला बताया जा रहा है। महिला थाना प्रभारी ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned