चिकित्सकों की हड़ताल से चिकित्सा व्यवस्था बेपटरी

चिकित्सकों की हड़ताल से चिकित्सा व्यवस्था बेपटरी

Gaurav Kumar Khandelwal | Updated: 18 Jun 2019, 08:01:48 AM (IST) Dausa, Dausa, Rajasthan, India

भटकते रहे मरीज

दौसा. पश्चिम बंगाल में चिकित्सकों से मारपीट व अभद्रता के विरोध में सोमवार को जिला अस्पताल सहित जिलेभर के सामुदायिक चिकित्सा केन्द्र व प्राथमिक चिकित्सा केन्द्रों में चिकित्सकों ने हड़ताल कर कार्य बहिष्कार रखा। चिकित्सकों की हड़ताल से चिकित्सा व्यवस्था काफी प्रभावित रही। चिकित्सकों की हड़ताल के कारण जो मरीज अस्पतालों में आ गए उनको भटकना पड़ा। खास कर जिला अस्पताल में मरीजों को अधिक परेशानी हुई। अस्पताल में चिकित्सक नहीं आने से मरीजों को चिकित्सकों को घर पर दिखाना पड़ा।

 

 

हालांकि चिकित्सा प्रशासन ने दावा किया कि चिकित्सकों की हड़ताल की वजह से प्रोबेशनरी चिकित्सक, संविदावाले 40 चिकित्सकों को जिला अस्पताल सहित विभिन्न चिकित्सालयों में तैनात कर दिया गया। वहीं नर्सिंग स्टाफ नेभी काफी व्यवस्थाएं सम्भाली।

 

 


अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ के जिलाध्यक्ष डॉ. दीपक शर्मा ने बताया कि पश्चिम बंगाल में चिकित्सकों के साथ मारपीट एवं अभद्रता की घटना के विरोध में दौसा मेंभी चिकित्सकों ने अस्पतालों में हड़ताल कर कार्य बहिष्कार रखा। जिला अस्पताल में कार्य बहिष्कार के दौरान डॉ. दीपक शर्मा, डॉ. आरके मीना, डॉ. आरडी मीना, डॉ. रकम सिंह, डॉ. अमित शर्मा, डॉ. अशोक शर्मा, डॉ.रविन्द्र शर्मा, डॉ.अशोक मलहोत्रा, डॉ. बत्तीलाल मीना, डॉ.राकेश शर्मा, डॉ. विनोद मीना, डॉ. अभिषेक जैन, डॉ. शिवदयाल मीना, डॉ.प्रमोद मीना, अखिलेश, डॉ. ज्योति, डॉ. मुकेश चौधरी व डॉ. नंदिनी सहित कईचिकित्सक मौजूदथे।

 


चिकित्सा व्यवस्था प्रभावित नहीं होने दी
जिला अस्पताल सहित सीएचसी व पीएचसी में 40 चिकित्सकों को लगा दिया गया। चिकित्सा व्यवस्था प्रभावित नहीं होने दी गई।
- डॉ. सुभाष बिलौनिया, अतिरिक्त सीएमएचओ दौसा।

 

 

 

हड़ताल का रहा आंशिक असर

 


बांदीकुई. राजकीय सामुदायिक चिकित्सालय में चिकित्सकों ने पश्चिम बंगाल में चिकित्सकों के साथ मारपीट के विरोध में कार्य का बहिष्कार कर दिया, लेकिन कुछ ही देर बाद चिकित्सकों ने हड़ताल खत्म कर मरीजों का उपचार शुरू कर दिया। इसके चलते हड़ताल का असर आंशिक दिखाई दिया और उपस्थिति पंजिका में हस्ताक्षर भी कर दिए। आयुष चिकित्सा अधिकारी डॉ.एसआर शर्मा सहित अन्य चिकित्सकों ने मरीजों का उपचार किया।

 


ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आरपी मीणा ने बताया कि चिकित्सालय में थोड़ी देर के लिए व्यवधान रहा, लेकिन बाद में चिकित्सकों ने मरीजों का उपचार किया है। इसीप्रकार ऑल इण्डिया मेडिकल एसोसिएशन ने भी हड़ताल का समर्थन करते हुए उपखण्ड अधिकारी पिंकी मीणा एवं थाना प्रभारी राजेन्द्र मीणा को ज्ञापन सौंप चिकित्सकों के साथ मारपीट करने वाले समाजकंटकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। निजी चिकित्सकों ने भी ओपीडी में मरीजों का उपचार नहीं कर विरोध जताया। इस मौके पर आईएमए अध्यक्ष डॉ. देवेन्द्र मदान, सचिव डॉ. सुनील कुमार कटटा, कोषाध्यक्ष डॉ. रमेश सैनी, डॉ. जगनलाल मीणा, डॉ. हेमराज सैनी, डॉ. सोनू गोयल भी मौजूद थे। (नि.सं.)

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned