वाहनों की अनुमति के लिए पहले दिन उलझते रहे लोग

- आवेदन दाखिल करने में आ रही है दिक्कत
- अधिकारी व कर्मचारियों से सही नहीं मिल रहा है जवाब

दौसा. कोरोना संक्रमण से बचने के लिए किए गए लॉकडाउन के बाद जारी गाइड लाइन में निजी वाहनों पर भी बिना अनुमति चलने पर रोक लगाने के बाद जिन लोगों को घरों से बाहर निकलना बहुत ही जरूरी है, उनकी मुसीबत अधिक बढ़ गई है। सरकार ने लॉकडाउन में निजी व व्यावसायिक वाहनों के चलने की अनुमति देने के लिए सम्बन्धित प्रादेशिक एवं जिला परिवहन अधिकारी को अधिकृत किया है, लेकिन लोगों को वाहनों की अनुमति लेने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। पहले दिन लोगों को यह भी जानकारी नहीं थी कि आखिर इन वाहनों की अनुमति के लिए सरकार ने किन अधिकारियों को अधिकृत किया है। इससे लोग एक दूसरे से यह पूछते नजर आए कि आखिर उनके वाहनों को अनुुमति कौन अधिकारी देगा। कोई कलक्ट्रेट में चक्कर काट रहा था तो कोई प्रादेशिक या जिला परिवहन अधिकारी कार्यालय में चक्कर काट रहा था।
ऑनलाइन होंगे आवेदन
पत्रिका ने इस मामले में पड़ताल की तो सामने आया कि लॉकडाउन में निजी व व्यावसायिक वाहनों को अनुमति देने के लिए जिला एवं प्रादेशिक परिवहन अधिकारियों को अधिकृत कर दिया है, लेकिन आवेदक को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। ऑनलाइन ही अनुमति दी जाएगी। इसमें सबसे बड़ी दिक्कत लोगों को यह आई कि आखिर उनको आवेदन कहां से मिलेगा। आवेदन मिल भी जाए तो उसको ऑनलाइन आवेदन कैसे करना होगा। आवेदकों ने बताया कि यदि ई-मित्र खुले रहते तो उनको आवेदन करने में दिक्कत नहीं आती। हर कोई व्यक्ति ऑनलाइन आवेदन को दाखिल नहीं कर सकता है।

मोबाइल पर नहीं हो रहा एडिट
निजी व व्यावसायिक वाहनों में से जिन लोगों को अनुमति के लिए आवेदन करना होता है। लेकिन लोगों को दिक्कत यह आ रही थी कि आवेदन की पीडीएफ फाइल में मोबाइल पर टाइप नहीं हो रही थी और न ही वह एडिट हो रही थी। इससे लोगों को खासी परेशानी भुगतनी पड़ रही है।

साहब का ऐसा जवाब!
इस सम्बन्ध में जब पत्रिका ने जिला परिवहन अधिकारी संजीव भारद्वाज से बात की तो उन्होंने कहा कि ऐसे सवाल करना गलत है। उनको इतनी जानकारी नहीं है। हम तो हम ही परेशान है। लोग अपने आप ही सब करवा लेंगे। उन्होंने वाहन की परमिशन लेने का तरीका समझाने की बजाय फोन काट दिया।

इनका कहना है...
निजी व व्यावसायिक वाहनों को लॉकडाउन में अनुमति देने के लिए राज्य सरकार ने नियम तय किए हैं। ऑनलाइन आवेदन करने के बाद अनुमति दी जा रही है। यदि मोबाइल पर टाइप नहीं हो रहे हैं तो किसी एक्सपर्ट से आवेदन भरवा लें।
- राजीवकुमार, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी दौसा

Corona virus
Rajendra Jain Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned