पिकअप पलटी, दो की मौत

दौसा-लालसोट सड़क मार्ग पर नयाबास के पास बुधवार दोपहर सवारियों से भरी पिकअप अनियंत्रित होकर पलट

By: मुकेश शर्मा

Published: 06 Apr 2016, 11:39 PM IST

दौसा।दौसा-लालसोट सड़क मार्ग पर नयाबास के पास बुधवार दोपहर सवारियों से भरी पिकअप अनियंत्रित होकर पलट गई। इससे पिकअप में सवार एक महिला सहित दो जनों की मौत हो गई तथा 15 अन्य घायल हो गए। सभी लोग निर्झरना में किसी रिश्तेदार के यहां तीये की बैठक में शामिल होने जा रहे थे। सूचना पर पहुंची रामगढ़ पचवारा थाना पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से घायलों को क्षतिग्रस्त पिकअप से निकालकर एम्बुलेंस 108 की सहायता से जिला चिकित्सालय पहुंचाया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद पांच जनों को जयपुर रैफर कर दिया। सूचना पर नायब तहसीलदार प्रहलाद नारायण शर्मा व पटवारी धर्मसिंह मीना ने भी जिला चिकित्सालय पहुंचकर घायलों की कुशलक्षेम पूछी।


लालसोट सीओ मोहनलाल ने बताया कि सभी लोग ठीकरिया गांव के रहने वाले हैं। वो ठीकरिया निवासी लाल्या मीणा की पुत्री के निर्झरना स्थित ससुराल में किसी की तीये की बैठक में शामिल होने जा रहे थे। नयाबास के पास चालक के नियंत्रण खो देने से पिकअप पलट गई। इस दौरान कौशल्या (35) पत्नी रामखिलाड़ी मीणा के पिकअप के नीचे आ जाने से उसकी मौत हो गई। इसी प्रकार ठीकरिया निवासी भरतलाल  (30) पुत्र मूलचंद मीना, बाबूलाल (40), कृष्णा (35), भौंरी देवी (50) पत्नी गोवर्धनलाल, शांति देवी (50), प्रभातीलाल (55), कैलाश (24), कैलाशी देवी (24), केशंता (30), प्यारी देवी (60), लाली देवी (35), रामावतार (40), लल्लूराम (45), प्रियंका (29), कैलाशी (30) पत्नी गिर्राज मीना व धापा देवी (50) घायल हो गए। इनमें से भरतलाल, कृष्णा, भौंरी, शांति व प्रभाती को प्राथमिक उपचार के बाद जयपुर रैफर कर दिया था। शाम को जयपुर में उपचार के दौरान भरतलाल (30) पुत्र मूलचंद मीना ने भी दम तोड़ दिया। इसी प्रकार बाइक फिसलने से कौलाना निवासी कमली पत्नी किशनलाल मीना भी घायल हो गई। उसे भी जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया।  

गांव में मचा कोहराम : दुर्घटना में एक ही परिवार के दो जनों की मौत होने से गांव में कोहराम मच गया। शाम को किसी भी घर में चूल्हे नहीं जले। हर कोई मृतकों के घर पहुंचकर परिजनों को ढांढस बंधा रहा था।


ड्यूटी समय के बाद भी रुके नर्सिंगकर्मी : दोपहर करीब पौने दो बजे घायलों को अस्पताल पहुंचना शुरू हो गया। बड़ी संख्या में घायलों के आने की सूचना पर अस्पताल प्रशासन ने पहले ही सभी तैयारी कर रखी थी। इस दौरान सुबह की ड्यूटी में तैनात नर्सिंगकर्मी भी घायलों के उपचार में जुट गए। ऐसे में अस्पताल में चिकित्सक व नर्सिंगकर्मियों की कमी नहीं पड़ी।

मदद के लिए दौड़े लोग


पिकअप के अनियंत्रित होकर पलटते से घायलों की चीख-पुकार सुनकर आस-पास के लोग मदद के लिए दौड़ पड़े। ग्रामीणों ने एडवोकेट सांवरलाल मीना के नेतृत्व में पुलिस के सहयोग से क्षतिग्रस्त पिकअप से घायलों को बाहर निकाला तथा एम्बुलेंस 108 से उन्हें जिला चिकित्सालय पहुंचाया। इस दौरान कई लोगों ने सामान्य घायलों को छाया में बैठाकर पानी पिलाया तथा ढांढस भी बंधाया।
मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned