दौसा. जैन धर्म के 24 वें तीर्थंकर भगवान महावीर का जन्म कल्याणक महोत्सव सकल जैन समाज दौसा के तत्वावधान में संयम व सादगी के साथ मनाया गया। इस दौरान केन्द्र सरकार के लॉक डाउन व सोशल डिस्टेन्सिंग के नियमों का पूर्ण रूप से पालन किया गया।
इस दौरान जैन धर्मावलम्बियों द्वारा सुबह आठ बजे अपने घरों की छत पर या बालकनी में सामूहिक रूप से महावीर जयंती मनाई गई। आदिनाथ मंदिर के पास स्थित जैन कॉलोनी में भी सभी महिला-पुरुष-बच्चों ने शुद्ध वस्त्र धारण कर, घी के दीपक जलाकर, थाली, घंटी व झालर बजाकर भगवान महावीर के संदेशों से आसपास के क्षेत्र को गुंजायमान कर दिया। जैन समाज के प्रवक्ता प्रतीक जैन ने बताया कि लोगों ने घरों पर भगवान महावीर की तस्वीर विराजमान कर अष्ट द्रव्यों से पूजा अर्चना की व विश्व में व्याप्त कोरोना महामारी से प्राणी मात्र को बचाने की प्रार्थना की। जैन समाज के अध्यक्ष महावीरप्रसाद जैन सिकन्दरा व महामंत्री प्रवीण जैन नेतावाला ने बताया कि जैन साधकों ने सोशल मीडिया के माध्यम से एक दूसरे को भगवान महावीर जन्मोत्सव की बधाइयां दी।
लालसोट. जैन समाज के लोगों ने कोरोना वायरस एवं लॉक डाउन के चलते मंदिरों में न जाकर घर-घर ही महावीर जयंती मनाई। महिलाओं ने घरों के दरवाजों पर रंगोली सजाई। श्रद्धालुओं ने घरों में ही भगवान महावीर के चित्र के समक्ष पूजा अर्चना की। टेलीविजन में जैन संतों के द्वारा बताए गए निर्देश पर महावीर चालीसा महावीर पूजा णमोकार व भक्तामर स्त्रोत का पठन किया। शाम को आरती की गई। घरों में पकवान भी बनाए। निर्धन तबके के लोगों को खाद्य सामग्री व फल बांटे।(निसं.)


लवाण. कोरोना वायरस संक्रमण के चलते लॉकडाउन के कारण जैन समाज ने महावीर जयंती मन्दिर में न जाकर अपने घरों के आगे ही हर्षोल्लास मनाई। घरों के आगे रंगोली बनाई। सोशल डिस्टेंस को ध्यान में रखते हुए दूरी बनाकर श्रद्धालुओं ने तालियां बजाकर भगवान महावीर के जयकारे लगाए। शिखरचंद, ज्ञानचंद, भानू लुहाडिय़ा, कैलाश पाण्ड्या, रतनलाल जैन, विनोद लुहाडिय़ा ने भगवान महावीर के बताए आदर्शों का पालन करने के लिए कहा।
एलडब्लु 0604सीबी-लवाण में घरों के आगे ही महावीर जयंती मनाते जैन समाज के श्रद्धालु।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned