बदला मौसम का मिजाज, राहत के छींटे बरसे

कहीं पर तेज हवा तो कहीं पर बरसी बारिश...

 

By: Rajendra Jain

Published: 07 Jun 2018, 09:47 AM IST

दौसा. जिलेभर में बुधवार तड़के मौसम का मिजाज बदलने से कहीं पर तेज हवाएं चली तो कहीं पर हल्की व मध्यमगति की बारिश हुई। मौसम खुशनुमा रहा। जिला मुख्यालय पर भी बूंदाबांदी हुई। जोशी की कोठी पर सड़क के बगल में बरसात का पानी एकत्रित हो गया।

इधर बांदीकुई, मानपुर व गीजगढ़ इलाकें में मध्यमगति की बारिश से मौसम खुशनुमा हो गया। दिन में भी बादलों की घटाएं छाई रही। बारिश से गर्मी हवाएं तो नहीं चली, लेकिन लोगों को उमस भरी गर्मी ने परेशान रखा। इधर बिजली गुल होने से लोग पसीने में तरबतर रहे। इधर पारा भी अन्य दिनों की बजाय लुढ़का। अन्य दिनों पारा 45-46 डिग्री पर चले गया था, लेकिन 42 डिग्री पर आ टिका।
एक घंटे बरसात से बदला मौसम
मानपुर. कस्बे व समीपवर्ती क्षेत्रों में बुधवार सुबह करीब एक घंटे बरसात से कई दिनों से पड़ रही भीषण गर्मी से निजात मिली। हालांकि दोपहर में उमस ने फिर लोगों के पसीने छुड़ा दिए। सुबह करीब 6 बजे अचानक आसमान में छाई काली घटाओं व ठंडी हवा से मौसम बदल गया।
गीजगढ़. कस्बे के आसपास के गांव गीलाडी, घूमणा, गढ़ी में बुधवार सुबह बारिश से मौसम खुशनुमा हो गया। तेज गर्मी से लोगों को राहत मिली, लेकिन दोपहर में उमस से लोग परेशान नजर आए। बारिश से कस्बे के बस स्टैण्ड पर जगह-जगह पानी भर गया।


बिजली गिरने से पक्षियों की मौत
बडिय़ाल कलां . मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्र में बुधवार सुबह हुई। इससे मौसम खुशनुमा बन गया। क्षेत्र में सुबह करीब सवा छह बजे अचानक बारिश होना शुरू हो गई। मौसम खुशनुमा होने से लोगों ने गर्मी से राहत महसूस की। वहीं ग्राम तंूगडबास में अचानक नीम के पेड़ पर आकाशीय बिजली गिर गई। ग्रामीण प्रहलाद तूंगड ने बताया कि बिजली गिरने से एक मोरनी एवं दो कबूतरों की मौत हो गई।

बारिश होते ही नासूर बन जाती है समस्या
बांदीकुई. शहर के बसवा रोड पंचायत समिति के सामने एवं एफसीआई गोदाम के सामने पानी निकास की समस्या लोगों के लिए नासूर बनी हुई है। हल्की बारिश के होतेे ही बसवा रोड पर पानी भराव होने से तालाब की तरह नजर आता है। हाल ही में आपदा प्रबंधन से करीब 5 करोड़ रुपए स्वीकृत हुए हैं, लेेकिन यहां पानी निकास कराए जाने की ओर कोई ध्यान नहीं है। बसवा रोड पर एक ओर नाला स्थित है। जबकि दूसरी ओर नाला नहीं है। ऐसे में बारिश के होते ही घुटनों तक पानी भराव हो जाता है।

नगरपालिका चेेयरमैन लक्ष्मी जायसवाल का कहना है हाल में आपदा प्रबंधन में स्वीकृत हुए 5 करोड़ में से 4 करोड़ रुपए के सड़क-नाली निर्माण के टेण्डर जारी कर कार्य आदेश जारी किए जा चुके हैं। पहले बसवा पर एक ओर नाले का निर्माण कराए जाने का प्रस्ताव लिया गया था, लेकिन कुछ पार्षदों के टेण्डर निरस्त कराने का प्रस्ताव रख देनेे से मामला अटक गया। फिर भी शीघ्र ही नाला निर्माण के लिए तकमीना बनाकर स्वीकृति जारी कराने का प्रयास कियाा जाएगा।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned