सावन का पहला सोमवार.... शिवालयों में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पूजा

Sawan's first Monday .... Pooja with social distancing in pagoda... मास्क लगाकर शिव का किया अभिषेक, चढ़ाए बिल्व पत्र

By: Rajendra Jain

Published: 07 Jul 2020, 07:21 AM IST

दौसा. कोरोना वायरस संकट के बीच सावन के पहले सोमवार पर जिलेभर के मंदिरों में भक्तों ने भगवान शिव के दर्शनों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग की पालना व मुंह पर मास्क लगाए भगवान शिव का जलाभिषेक कर बिल्व पत्र आक, धतूरे आदि चढ़ाकर पूजा अर्चना की। कई महिलाओं ने व्रत रखकर शाम को पार्क में जाकर भोजन ग्रहण किया। जनआस्था के केन्द्र नीलकंठ दरबार में इस बार कोरोना संक्रमण के चलते पुलिस पहरा होने से लोगों ने बाहर ही पूजा-अर्चना कर खुशहाली की कामना की। नीलकंठ महादेव के दर्शनों के लिए अलसुबह तीन बजे से लोगों का पहुंचना शुरू हो गया। जो यह क्रम शाम तक चलता रहा। श्रद्धालुओं की भीड़ उमडऩे से वहां मेला जैसा माहौल नजर आया। मंदिर के नीचे अस्थाई रूप से लगी प्रसादी, माला व खिलौनों की दुकानों पर भीड़ रही।
कई शिवालयों में फूल बंगला झांकी भी सजाई गई।श्रावण के पहले सोमवार ने भिगोया। जिला मुख्यालय पर श्रावण के पहले सोमवार को दोपहर करीब एक बजे घनघोर घटा छाई और करीब बीस मिनट तक हुई तेज बारिश से सडक़ों पर पानी बह निकला। बारिश के बाद मौसम खुशनुमा हो जाने से लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली।
श्रावण में शिवपूजा अतिशुभ : पं. दामोदर प्रसाद ने बताया कि श्रावण में शिवपूजा करना, कावड़ चढाना, रुद्राभिषेक करना, शिव नाम कीर्तन करना, शिवपुराण का पाठ करना अथवा शिव कथा सुनना, दान-पुण्य करना तथा ज्योतिर्लिंगों के दर्शन करना अतिशुभ माना गया है। श्रावण माह का प्रत्येक प्रहर परम शुभ रहता है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष श्रावण का पहला दिन सूर्य के नक्षत्र उत्तराषाढ़ में पडऩे से और भी शुभ हो गया है। सुहागिन महिलाओं को इस दिन मां पार्वती को श्रृंगार के लिए मेहंदी चढ़ानी चाहिए।

शिवालयों में गूंजा हर-हर महादेव
नांगल राजावतान. उपखण्ड मुख्यालय सहित आस-पास के गांवों में श्रावण माह के पहले सोमवार को शिवालयों में हर-हर महादेव की गूंज रही। भक्तों ने भगवान शिव की पूजा अर्चना कर बिल्व पत्र चढ़ाए।

बसवा. कस्बे में सावन के पहले सोमवार को श्रद्धालुओं ने भगवान शंकर का पूजन किया व बिल्व पत्र चढ़ाए। कोरोना महामारी के कारण धार्मिक स्थल झाझीरामपुरा में भक्तों का टोटा रहा। यहां हर वर्ष सावन के सोमवार को हजारों लोगों का आवागमन लगा रहता था।

लालसोट. श्रावण माह के प्रथम सोमवार को उपखंड क्षेत्र के शिवालयों में भीड़ नजर आई। महिलाओं ने भी व्रत रखा। श्रद्धालुओं ने सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करते हुए भगवान शिव की पूजा-अर्चना कर जलाभिषेक किया। (नि. स.)

लवाण. श्रावण मास के पहले सोमवार को शिव मन्दिरों में दिनभर भीड़ रही। मन्दिर में पुजारी ने एक-एक को भेजकर ही शिव की पूजा अर्चना करने दी। साथ ही मास्क भी अनिवार्य रखा। महिलाओं ने शिव ***** पर बिल्व पत्र चढ़ाकर जलाभिषेक किया। महिलाओं ने मन्दिर के बाहर शिवजी व पार्वती की कथा सुनी।

दुब्बी. कस्बे के गांव कैलाई में डूंगरी वाले बालाजी खान भांकरी से तृतीय कावड़ पदयात्रा के पहुंचने पर ग्रामीणों ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। महिलाओं ने देवनारायण मंदिर कैलाई से कलश यात्रा निकाली। सभी कावड़ यात्री मास्क लगाकर व सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करते हुए प्राचीन शिव मंदिर पहुंचे। जहां मंत्रोच्चार के साथ भगवान शिव का जलाभिषेक किया गया। राजाराम सेन, सुबुद्धि गुर्जर, गोविंद शर्मा, वीरसिंह, देवकीनंदन आदि मौजूद थे।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned