लालसोट के बाजारों में भारी वाहनों के प्रवेश का समय निर्धारित

- सीएलजी बैठक में किया निर्णय

By: Rajendra Jain

Updated: 12 Nov 2020, 07:32 PM IST

दौसा. लालसोट शहर के बाजारों में अब भारी व बड़ें वाहनों के प्रवेश का समय निर्धारित कर दिया है। इस बारे में गुरुवार को लालसोट थाना परिसर में आयोजित सीएलजी बैठक में व्यापारियों व सीएलजी सदस्यों की सहमति के बाद यह निर्णय किया गया। बैठक मेंं अधिकांश सीएलजी सदस्यों व व्यापार महासंघ पदाधिकारियों ने बाजारों में दिवाली के मौके पर हो रही भीड़ के चलते बने रहने वाले जाम की समस्या का निदान करने की मांग की। इस दौरान कई सीएलजी सदस्यों ने भी बाजारों में भारी व बड़े वाहनों के प्रवेश का समय निर्धारित करने व पालिका और पुलिस प्रशासन द्वारा नियमित रूप से बाजारों में निकल कर रोड़ पर अनावश्यक वाहन खड़े करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की।
इस पर ईओ सीमा चौधरी ने कहा कि वे गुरुवार शाम से ही शहर के बाजारों मेें सुबह आठ बजे से रात्रि तक भारी व बड़े वाहनों के प्रवेश पर पांबदी लगाने का आदेश जारी कर दिए जाएंगे। सीओ सतीश यादव और थाना प्रभारी राजवीर सिंह राठौड़ ने व्यापारियों से कहा कि वे भी प्रशासन की कार्रवाई के दौरान साथ रहते हुए बाजारों में अनावश्यक जाम के हालात पैदा करने वालों से समझाइश करे। सीओ ने बताया कि एक दो बार समझाइश की जाएगी, बाद में पालिका प्रशासन व पुलिस प्रशासन द्वारा नियमानुसार जुर्माना वसूली की कार्रवाई की जाएगी।
बैठक में पुलिस अधिकारियों ने कहा कि इस बार दिवाली पर प्रदूषण व कोरोना के खतरे को देखते हुए पटाखों की बिक्री व उनके चलाने पर पूरी तरह रोक लगी है, अगर कोई भी दुकान पटाखे बेचते हुए व आमजन पटाखे चलाते हुए पकड़ा जाएगा तो उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई होगी। बैठक में ईओ ने व्यापारियों से कहा कि वे बाजारों मेंं बिना मास्क लगा आने वाले ग्राहकों को सामान नहीं दें और कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए दुकान पर सभी उचित प्रबंध भी करें।
बैठक में पूर्व पालिकाध्यक्ष जगदीश सैनी, उपाध्यक्ष पुरुषोत्तम जोशी, राजेन्द्र पांखला, रवि हाडा, सिराज मोहम्मद, प्रेमप्रकाश शर्मा, कैलाश मीना, शंभूसिंह इंदावा, ब्रजमोहन थानेदार समेत कई जने मौजूद थे।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned