खाद बीज की दुकानें रही बंद

खाद बीज की दुकानें रही बंद
dausa

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Feb, 09 2016 11:16:00 PM (IST) Dausa, Rajasthan, India

सरकार के 5 नवम्बर 2015 के कीटनाशक एवं फर्टीलाइजर अनुज्ञापन नियम में संशोधन कर विज्ञान कृषि

दौसा।सरकार के 5 नवम्बर 2015 के कीटनाशक एवं फर्टीलाइजर अनुज्ञापन नियम में संशोधन कर विज्ञान कृषि स्नातक के नियम को हटाने के लिए मंगलवार को जिला खाद-बीज विक्रेताओं ने प्रतिष्ठान बंद कर जिला कलक्टर के नाम मुख्यमंत्री एवं प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपा। अध्यक्ष हजारी लाल गुप्ता ने बताया कि सरकार ने कीटनाशक एवं फर्टीलाइजर अनुज्ञापन नियम में विज्ञान कृषि स्नातक आवश्यक करने से व्यापारी व किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इस नियम को लागू करने से किसानों को खाद बीज व कीटनाशक एवं दवाई बाजार में आसानी से उपलब्ध नहीं हो पाएगी।

व्यापारियों ने मांग की है कि इस नियम को हटाया जाए। दुकानें बंद रहने से सरसों व जौ की फसलोंं में इस समय लग रहे चेपा की दवाइयां लेने वाले किसानों को भटकना पड़ा। कई किसान दवाइयां लेने के लिए गांवों से जिला मुख्यालय स्थित बाजार में पहुंचे तो उनको दुकानें बंद मिली। ऐसे में उनको निराश होकर लौटना पड़ा। व्यापारियों ने चेतावनी दी है कि उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो दुकानें नहीं खोलेंगे। इससे किसानों की परेशानियां बढ़ सकती है।

खाद-बीज भण्डार के व्यापारियों ने चेतावनी दी है,कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होगी तब वे दुकानें नहीं खोलेंगे। ज्ञापन देते समय मनोहर लाल गुप्ता, रामवतार गुप्ता, कृष्ण अवतार सामरिया,संघ प्रवक्ता श्याम भेड़ोली आदि मौजूद थे।

लालसोट ञ्च पत्रिका. भारत सरकार द्वारा कीटनाशक एवं फर्टीलाइजर अनुज्ञा पत्र नियम में संशोधन किए जाने के विरोध में मंगलवार को शहर एवं ग्रामीण इलाकों में संचालित खाद-बीज विक्रेताओं ने हड़ताल कर दिनभर दुकानें रखी। इस दौरान उपखण्ड अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा। बड़ाया धर्मशाला के बाहर व्यापारियों ने नारे लगाकर विरोध भी जताया। इस दौरान व्यापार संघ अध्यक्ष मुरारीलाल अग्रवाल, महामंत्री भागचंद शर्मा, कोषाध्यक्ष रामबाबू खण्डेलवाल आदि मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned