संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा का औचक निरीक्षण: कोई कर रहा था चुपके से हाजिरी तो किसी ने बनाया गाड़ी खराब होने का बहाना

14 कर्मचारी मिले अनुपस्थित, गैरहाजिर कर्मचारियों को नोटिस जारी करने के दिए निर्देश

By: Mahesh Jain

Updated: 12 Feb 2021, 11:45 AM IST

बांदीकुई(दौसा). संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा ने सुबह 9.15 बजे बांदीकुई राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण किया। इस पर पूरे अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मच गया। चिकित्सा स्टाफ अपनी अपनी व्यवस्थाओं को सुधारने में जुटते नजर आए।

संभागीय आयुक्त ने उपस्थिति रजिस्टर चैक किया तो चौदह संविदाकर्मियों समेत चिकित्साकर्मी गैरहाजिर मिले। उन्होंने चिकित्सा प्रभारी डॉ. एस.एन. शर्मा और ब्लॉक सीएमएचओ डॉ. अशोक सिंह से इन चिकित्सा कर्मियों के खिलाफ नोटिस जारी कर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

इस दौरान देखा गया कि कुछ कर्मी चुपके से अपनी उपस्थिति कर रहे थे तो संभागीय आयुक्त ने उनको टोका। समय पर आने के लिए पाबंद किया। हालांकि कुछ कर्मचारियों ने अपनी बाइक खराब होने की बात कही। उन्होंने अस्पताल की प्रयोगशाला, एक्स-रे कक्ष, इंमरजेंसी ओपीडी, एनसीडी कक्ष, डॉक्टर कक्ष सहित महिला चिकित्सालय में लेबर रूम, दवा केन्द्र पर भर्ती प्रसुताओं से रूबरू हुए। साथ ही मौजूद सुविधाओं का बारीकी से निरीक्षण किया।

इस दौरान आमजन ने अस्पताल परिसर की असुविधा को लेकर भी बात कही तो संभागीय आयुक्त ने तत्काल व्यवस्थाओं को सुधारने की बात कही। उन्होंने प्रभारी डॉ. एस. एन. शर्मा व डॉ. अशोक सिंह की कार्यशैली को सराहा। इस मौके पर सीएचसी प्रभारी एस.एन. शर्मा, ब्लॉक सीएमएचओ डॉ. अशोक सिंह, सोनोलॉजिस्ट बदनलाल मीना, डॉ. मंजू शर्मा, स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. मंजू मीना सहित अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।


कहा व्यवस्थाएं सुधारे, बनाए मॉडल अस्पताल

संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा ने अस्पताल की कई व्यवस्थाओं को लेकर जहां नाराजगी जताई, वहीं कुछ अच्छी व्यवस्था को लेकर डॉक्टर और चिकित्साकर्मियों की सराहना भी की। उन्होंने प्रभारी एस. एन. शर्मा, डॉ. सुनील सोनी, डॉ. रामनिवास मीना सहित वरिष्ठ कंपांउडर महेंद्र मीना के कार्य की सराहना की और उनको हाथों हाथ प्रशस्ति पत्र दिए।

जांच सिस्टम सुधारो और सैम्पलिंग का बढ़ाओ समय

संभागीय समित शर्मा ने अस्पताल में लचर जांच व्यवस्था को लेकर चिकित्सा अधिकारियों को फटकार लगाई और जांच सिस्टम को मजबूत बनाने एवं सैम्पलिंग का समय रात्रि 9 बजे तक करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। अस्पताल के बाहर बड़ी संख्या में खुली हुई निजी जांच केन्द्रों जांच की। उन्होंने स्वयं के मोबाइल फोन से फोटो ली व कहा जांच सिस्टम को इतना मजबूत करें कि गरीबों को सभी प्रकार की जांच मुहैया हो सके । अस्पताल में एक प्रसुता से छठी बेटी होने की जानकारी मिली तो उन्होंने महिला से कहा कि बेटा बेटी में कोई फर्क नहीं हैं।

संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा का औचक निरीक्षण: कोई कर रहा था चुपके से हाजिरी तो किसी ने बनाया गाड़ी खराब होने का बहाना
Mahesh Jain Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned