अंधड़ ने मचाई तबाही: 6 ट्रांसफॉर्मर व 12 खम्भे गिरे, कई पेड़ हुए धराशायी

The catastrophe caused havoc: 6 transformers and 12 poles fell, many trees collapsed... मवेशियों के चोटें आई, कोई जनहानि नहीं

By: Rajendra Jain

Published: 30 Jun 2020, 10:50 PM IST

लवाण (दौसा). शेरसिंह रजवास ग्राम पंचायत के गांव पीपल्या व गुढ़ा-कीरतवास में सोमवार रात आए अंधड़ ने तबाही मचा दी। रात करीब 9 बजे आए तेज अंधड़ से 6 ट्रांसफॉर्मर, 12 खम्भे, दो दर्जन से घरों की दीवारें गिरने व टिन टप्पर उडऩे से मवेशियों के चोटें आई। हालंाकि इसमें किसी प्रकार कोई जनहानि नहीं हुई।
सरपंच बसबाई मीणा ने बताया कि अंधड़ के चलते धूल के गुबारों से कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। रमेश मीणा, नहनूराम, लोहड़ीराम, भगवान सहाय और कैलाश के कच्चे घरो के टीन शैड व ईंटों से बनी मकानेां की दीवारें ढह गई। कई ग्रामीणों के लोहे के चद्दर उडकऱ चले जाने से पास में बंधे मवेशियों के चोट आई। अंधड़ इतना तेज था कि लोग घरों से बाहर निकलने का दुस्साहस भी नहीं कर पाए। ट्रांसफॉर्मरों के गिरने से मकानों पर 11 केवी के तारों का जाल बिछ गया। बिजली के खम्भे गिरने से दो दर्जन से भी अधिक गांवों की बिजली गुल हो गई। टीन शैड़ के उडऩे से कई परिवार बेघर हो जाने से उन्हें पड़ोसियों के यहां रात गुजारनी पड़ी। पेड़ों के धराशायी होने से रास्ते अवरुद्ध हो गए। मकानों में धूल की परत जम गई।
ग्रामीणों ने बताया कि अंधड़ इतना तेज था कि सब कुछ आंखों के सामने उड़ते दिखाई दिए। मकान की दीवारें गिरने से बाइक, जीप व टै्रक्टर भी क्षतिग्रस्त हो गए। ग्रामीणों ने बताया कि सूचना देने के बाद भी कोई प्रशासनिक अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा।
प्रशासन के नुमाइंदों से पहले रिश्तेदार पहुंचे: शेरसिंह रजवास पंचायत के गांवों में अंधड़ से हुए नुकसान की जानकारी मिलते ही पीडि़तों के दूर-दराज से रिश्तेदार सुबह जल्दी ही पंहुच गए, लेकिन प्रशासन का कोई नुमाइंदा नहीं पहुंचने पर ग्रामीणों ने नाराजगी जाहिर की। कुछ रिश्तेदारों ने तो मदद के लिए हाथ भी आगे बढ़ाए। मात्र पशु चिकित्सा विभाग के कर्मचारियों ने मौके पर पहुंचकर घायल जानवरों का उपचार कर दवा दी। लवाण की कई ढाणियों में बिजली नहीं आने से भीषण गर्मी में ग्रामीण पसीने से तरबतर नजर आए, वहीं पीने के पानी के लिए भी भटकना पड़ा।

लालसोट के बाजारों में पूर्णिमा व अमावस्या का ही रहेगा अवकाश
लालसोट. शहर के बाजारों में साप्ताहिक अवकाश को लेकर बनी असमंजस की स्थिति को लेकर मंगलवार को व्यापार महासंघ का दल उद्योग मंत्री परसादीलाल मीना से मंडावरी में मिला।
महासंघ के वरिष्ठ पदाधिकारी अरविंद आर्य ने बताया कि उद्योग मंत्री को पदाधिकारियों ने अवगत कराया कि कोराना के चलते व्यापार चौपट हो चुका है। ऐसे में हर सप्ताह में एक अवकाश रखना उचित नहीं है, जबकि पूर्व में व्यापार महासंघ पूर्णिमा व अमावस्या का अवकाश रखता है। इस पर उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रशासन ने गत रविवार का ही अवकाश रखवाया था और आगे साप्ताहिक अवकाश नहीं रहेगा। इस दौरान गिर्राज आंकड, छोटूलाल जांगिड़, कमलेश गुप्ता, विनोद गोयल, अरविंद आर्य, गिर्राज मीणा आदि थे। पदाधिकारियों ने बताया कि महासंघ द्वारा पूर्व की भांति आगे भी अमावस्या एवं पूर्णिमा का अवकाश ही रखा जाएगा।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned