दिन दहाड़े राह चलते लूटते थे मोबाइल, अब चढ़े पुलिस के हत्थे

चोर गिरोह से एक दर्जन मोबाइल एवं एक बाइक बरामद

By: Mahesh Jain

Published: 24 Jul 2018, 09:22 PM IST

दौसा. शहर में पिछले कुछ महीनों से दिनदहाड़े चलते राहगीरों के हाथों से मोबाइल छीनने वाले गिरोह के चार आरोपियों को मंगलवार को कोतवाली थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके कब्जे से एक दर्जन मोबाइल एवं एक बाइक बरामद की है।

पुलिस अधीक्षक चूनाराम जाट ने बताया कि 16 जुलाई 2018 को शिक्षक कॉलोनी निवासी आशुतोष शर्मा ने रिपोर्ट दी थी कि 15 जुलाई को वह मोबाइल पर बात करते हुए गुप्तेश्वर महादेव मंदिर जा रहा था। मोटर साइकिल पर अचानक दो युवक आए और उनके हाथ से मोबाइल छीन कर फरार हो गए। बाइक पर नम्बर भी नहीं थे।

एसपी ने बताया कि इस मामले में एएसपी सुरेन्द्र सिंह व सीओ के निर्देशन में कोतवाली थाना प्रभारी नरेश कुमार मीना के नेतृत्व में टीम गठित की। टीम ने इस मामले में गहनता से जांच कर लवाण थाने के कंवरपुरा निवासी राकेश कुमार गुर्जर, शिक्षक कॉलोनी निवासी विनय कुमार ऊर्फ विक्की शर्मा, रामपुरी कॉलोनी निवासी जीतू सैनी को िगरफ्तार कर व रलावता रोड निवासी नाबािलग को िनरूद्ध कर उनके कब्जे से करीब एक दर्जन मोबाइल व बाइक बरामद की।

ऐसे देते थे वारदात को अंजाम
एसपी ने बताया कि राकेश गुर्जर व विनय ऊर्फ विक्की शर्मा बिना नम्बरों की बाइक पर चलते थे। उनको कम भीड़ व सुनसान वाले स्थान पर कोई व्यक्ति हाथ में मोबाइल लेकर चलता फिर मोबाइल से बात करता दिखाई देता तो वे बाइक पर अचानक आकर उसका मोबाइल छीन कर फरार हो जाते। ऐसे उन्होंने एक नहीं बल्कि कई वारदातें की। इसके बाद वे जीतू सैनी की मोबाइल की दुकान पर आकर सस्ते दामों में बेच देते। जीतू सैनी उन महंगे मोबाइलों का आईएमईआई नम्बर बदल कर भोले-भाले ग्रामीण या गांव से आने वाले छात्रों को सस्ते दामों पर बेच देता था।

यहां-यहां की वारदात
पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने सैंथल मोड़, पिंकी होटल के सामने, जिला अस्पताल के सामने, सोमनाथ व सूर्य मंदिर के बीच, नेहरू गार्डन के सामने, पीजी कॉलेज के समीप, गांधी तिराहा, गुप्तेश्वर रोड, पंचायत समिति रोड एवं न्यू मण्डी रोड से मोबाइल लूटे हैं।


इस टीम ने किया खुलासा
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि खुलासा करने वाली टीम में कोतवाली थाना प्रभारी नरेशकुमार मीना, हैडकांस्टेबल जनकसिंह, रामदेव, लक्ष्मीकांत, पुखराज व हाकिम सिंह शामिल थे। पुलिस अधीक्षक ने टीम को पुरस्कार देने की घोषणा की है।

 

दिन दहाड़े राह चलते लूटते थे मोबाइल, अब चढ़े पुलिस के हत्थे
Mahesh Jain Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned