Video: किरोड़ी के भाजपा में शामिल होने पर वैभव गहलोत का 'नो कमेंट'

Video: किरोड़ी के भाजपा में शामिल होने पर वैभव गहलोत का 'नो कमेंट'

Gaurav Kumar Khandelwal | Publish: Mar, 14 2018 09:44:15 AM (IST) Dausa, Rajasthan, India

कांग्रेस के नेता वैभव गहलोत व लालचंद कटारिया बोलने से बचे

दौसा. पूर्व मुख्यमंत्री के पुत्र व कांग्रेस नेता वैभव गहलोत व लालचंद कटारिया दौसा आए। जब उनसे मीडिया ने किरोड़ीलाल के भाजपा में शामिल होने के सम्बंध में प्रतिक्रिया लेनी चाही तो दोनों नेता विरोध में बोलने से बचते हुए नजर आए। वैभव गहलोत ने तो स्पष्ट रूप से 'नो कमेंट्स' कहकर पल्ला झाड़ लिया। आगामी चुनाव पर गहलोत न कहा कि कांग्रेस का अच्छा प्रदर्शन रहेगा। निश्चित रूप से सरकार बनेगी। वहीं लालचंद कटारिया ने कहा कि किरोड़ीलाल मीना विचारधारा से भाजपा के साथ थे और वहीं जुड़ गए हैं। इसमें डरने की बात नहीं है। कांग्रेस पर फर्क पडऩे को लेकर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि राजनीतिक भूमि के लोग हैं, कहीं ना कहीं तो फर्क पड़ेगा। दोनों नेता प्रदेश महासचिव मुरारीलाल मीना के भाई का निधन होने पर शोक जताने आलियापाड़ा गांव जा रहे थे।

 

 

पार्टी को मजबूती मिलेगी-भड़ाना

 


दौसा. सर्किट हाउस में ठहरे केबिनेट मंत्री हेमसिंह भड़ाना ने कहा कि डॉ. किरोड़ीलाल मीना मूलत: भाजपा व संघ की विचाराधारा के ही थे। अब पार्टी में वापसी से मजबूती मिलेगी। कार्यकर्ताओं में जोश व उत्साह आएगा। कर्नल किरोड़ीसिंह बैंसला के भी भाजपा में शामिल होने की चर्चाओं पर भड़ाना ने कहा कि बैंसला अभी सामाजिक राजनीति कर रहे हैं, बाकि तो वे ही बता सकते हैं। कांग्रेस को लेकर भड़ाना ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं का काम बयान देना ही है। मुख्यमंत्री की अच्छी योजनाओं पर भी कांग्रेसी खिलाफ में ही बयान देते हैं।

 

 

भांजे ने दी मामा को चुनौती

 


लालसोट. यहां पत्रकारों से बातचीत में डॉ. किरोड़ीलाल मीना ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता परसादीलाल मीना को चुनौती देते हुए कहा कि उन्होंने विधानसभा की सीट खाली कर दी है। अब आगामी चुनाव जीतकर बताएं। लालसोट से भाजपा ही विजय पताका लहराएगी। उन्होंने परसादी पर निशाना साधते हुए कहा कि अवसरवादी तो वह है, जिसे कांग्रेस ने टिकट नहीं दिया था तब वह पार्टी के खिलाफ निर्दलीय चुनाव में खड़े हुए थे।

 


किरोड़ी ने कहा कि उन्हें भाजपा से चार बार लोकसभा व विधानसभा का टिकट नहीं मिला था, जब भी पार्टी नहीं छोड़ी। पार्टी का काम किया। भाजपा पार्टी ने गत बार पार्टी से निकाल दिया था, तब अलग से चुनाव लड़ा था। अवसरवादी कौन है, यह जनता जानती है। उन्होंने कहा कि परसादी रिश्ते में मेरे मामा लगते हैं, इसलिए मामा को ही चुनौती दे रहा हूं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned