मानपुर थाने पर किया ग्रामीणों ने किया धरना-प्रदर्शन

राज्यसभा सांसद डॉ. मीणा सैकड़ों ग्रामीणों के साथ पहुंचे

By: Rajendra Jain

Published: 05 Feb 2021, 11:29 AM IST

दौसा. मानपुर क्षेत्र के कालवान सरपंच के भाई की गिरफ्तारी व अवैध खनन के मामले को लेकर गुरुवार को राज्यसभा सांसद डा. किरोड़ीलाल मीणा ने सैकड़ों ग्रामीणों के साथ मानपुर थाने पहुंचकर धरना प्रदर्शन कियाा। सरपंच मीरा मीना के भाई प्रकाश मीणा की गिरफ्तारी के मामले को लेकर राज्यसभा सांसद मीणा के नेतृत्व में ग्रामीण मानपुर थाने पर अनिश्चितकालीन धरने बैठते, लेकिन सरपंच के भाई की गिरफ्तारी की फाइल पुलिस महानिरीक्षक जयपुर के पास होने को लेकर अनिश्चितकालीन धरना स्थगित कर दिया और ग्रामीण वापस घर लौट गए।
इससे पहले डॉ मीणा कालवान गांव पहुंचे और पुलिस प्रशासन द्वारा एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाया। सरपंच द्वारा दर्ज मामला व एक ग्रामीण महिला पर हुए हमले के मामले में पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं करने को लेकर डॉ मीना ने मानपुर थाने पर कूच करने का ऐलान कर दिया। इसके बाद राज्यसभा सांसद के साथ सैकड़ों की तादाद में महिला व पुरुष जुगाड़ में सवार होकर मानपुर थाने पहुंच गए और थाने के गेट के बाहर ग्रामीण धरने पर पर बैठकर पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारे लगाकर सरपंच की भाई को रिहा करने की मांंग पर अड़ गए।
करीब एक घंटे तक मानपुर थाने पर हुए धरना प्रदर्शन के बाद मानपुर पुलिस वृत अधिकारी संतराम मीणा से वार्ता की गई। सांसद ने कहा कि पुलिस वृतधिकारी ने उन्हें बताया है कि सरपंच की भाई की गिरफ्तारी की फाइल जयपुर पुलिस महानिरीक्षक के पास जांच के लिए गई हुई है। गिरफ्तारी की फाइल पुलिस महा निरीक्षक के पास होने से जयपुर जाकर उनसे बात की जाएगी।
उसके बाद ही आगे के आन्दोलन की रणनीति का ऐलान किया जाएगा। उसके बाद ग्रामीण वापस लौट गए। ग्रामीणों की बड़ी संख्या में थाने पर पहचने को लेकर पुलिस पुलिस प्रशासन भी हरकत में आ गया। थाना प्रभारी राजकुमार मीणा सहित बड़ी संख्या में पुलिस प्रशासन भी मौजूद रहा। गौरतलब है कि क्रेशरों से चौबीस घंटे धूल और डस्ट उडऩे की वजह से कालवान-सिकरी गांव के लोगों में श्वांस की बीमारियों का प्रभाव बढ़ रहा है। डस्ट के कारण सिलिकोसिस, सर्दी, जुकाम, दमा , स्नोफीलिया जैसी बीमारिंयों ने पैर पसारना शुरू कर दिया है।
जिससे गांव के कई लोगों की सिलिकोसिस महामारी के चलते मौत हो गई और पहाड़ के आसपास कृषि भूमि और फसल को भी भारी नुकसान झेलना पड़ता है। जिसका सीधा असर किसानों की आर्थिक हालात पर पड़ रहा है सिकराय-कालवान-सिकंदरा मार्ग से निकलने वाले राहगीर भी बेहद परेशान हैं। जिसको लेकर सरपंच के भाई के नेतृत्व में कालवान गांव के पहाड़ों में चल रहे अवैध खनन व अवैध क्रेशर को लेकर धरने पर बैठकर मोर्चा खोल रखा था। ग्रामीणों द्वारा अवैध क्रेशरों की शिकायत कई बार प्रदूषण विभाग एवं खनिज विभाग, राजस्व विभाग से की गई पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned