गणेशधाम व निर्धनों के आशियानों को नहीं उजाडऩे देंगे - डॉ. किरोड़ी

- बिना क्षतिपूर्ति एक ईंट भी नही रखने देंगे

By: Rajendra Jain

Published: 03 Jul 2021, 03:00 PM IST

- भूमि अवाप्ति को बताया न्यायालय के निर्णय के खिलाफ
- एसडीएम को सौंपा ज्ञापन
दौसा. लालसोट क्षेत्र के रालावास गांव में प्रस्तावित नए औद्योगिक क्षेत्र के लिए भूमि अवाप्ति प्रक्रिया में गणेशधाम मंदिर, आसपास बसी आवसीय बस्तियोंं के उजाडऩे के विरोध में एवं भविष्य में आवश्यक सुविधाओं के लिए भूमि छोडऩे की मांग को लेकर दर्जनों ग्रामीण महिला-पुरुषों ने राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीना की अगुवाई में शुक्रवार दोपहर लालसोट पुलिस थाने के बाहर धरना प्रदर्शन किया। धरना प्रदर्शन में महिलाएं व छोटे-छोटे बालकों ने भी हाथों में तख्तियां लेकर गणेश धाम व गरीबों के आशियानों को नहीं उजाडऩे की गुहार लगाई। डॉ. मीना ने कहा कि वे औद्योगिक क्षेत्र के खिलाफ नहीं है, लेकिन क्षेत्र के प्रसिद्ध आस्था स्थल गणेश धाम व गरीबों के आशियानों को उजडऩे नहीं दिया जाएगा और बिना उचित क्षतिपूर्ति एक ईंट भी नहीं रखने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि रालावास गांव के प्रसिद्ध गणेश धाम पर गणेश चतुर्थी मेले के मौके पर हर वर्ष लाखों की संख्या में श्रृद्धालु पहुंचते है, ऐसे में गणेश धाम के उजाड़कर क्षेत्र में लोगोंं की धार्मिक भावना के साथ खिलवाड़ नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि औद्योगिक क्षेत्र के लिए 324 बीघा चरागाह भूमि को अवाप्त किया गया है, लेकिन इन चरागाह भूमि की क्षतिपूर्ति रालावास ग्राम पंचायत क्षेत्र में ही करने के बजाय बीस किलोमीटर दूर डोब गांव में की गई है, जो कि पूरी तरह न्यायालय के निर्णय के खिलाफ है। ऐसे में रालावास के ग्रामीण बीस किलोमीटर दूर अपने पशुओं को चराने के लिए कैसे जाएंगे। किसी गरीब की बस्ती नहीं हटे और धार्मिक स्थल को उजाडऩे से लोगों की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचे, इस बारे में पहले सरकार को उचित कार्रवाई करनी होगी। इससे पहले पुलिस थाने में डॉ. मीना ने रामगढ़ पचवारा एसडीएम सरिता मलहोत्रा को ज्ञापन देकर गणेशधाम मंदिर व मेला परिसर को औद्योगिक क्षेत्र से छोड़ते हुए गणेशधाम के नाम नामांतकरण खोलने, कोली बस्ती को अवाप्त प्रक्रिया से छोड़ते हुए आबादी भूमि के रूप में दर्ज करने, आगामी विकास के लिए तीस एकड़ भूमि को ग्राम पंचायत के नाम दर्ज करने, पशुधन को चराने के लिए पचास एकड़ चरागाह भूमि को अवाप्ति से मुक्त करने समेत कई मांग की। इस दौरान भाजपा नेता रामबिलाश मीना, हरकेश मटलाना, अनिल बैनाड़ा, अशोक हट्टिका, नगर मंडल अध्यक्ष दिनेश जोशी, रामचरण पट्या, रामप्रसाद बगड़ी , शंभूलाल कुई वाला एवं राजेश त्रिवेदी समेत कई जने भी मौजूद रहे।(नि.प्र.)
धरने के बाद लालसोट थाने पर कूंच
इससे पूर्व शुक्रवार सुबह रालावास गांव के गणेश धाम पर आयोजित धरना प्रदर्शन में बड़ी संख्या में ग्रामीण व भाजपा कार्यकर्ताओं ने शिकरत की। इसमें भाजपा नेता रामबिलाश मीना ने कहा कि सरकार में शामिल लोगों ने अपने स्वार्थ के चलते इस कार्य को अंजाम दिया है, जबकि यहां पूर्व में डिडवाना रीको एरिया में काफी प्लाट खाली पड़े है। धरना प्रदर्शन को सूरतपुरा सरपंच कांजी मीना, राहुवास भाजपा मंडल अध्यक्ष पौकरमल सैनी, रामगढ़ पचवारा भाजपा मंडल अध्यक्ष लड्डूराम मीना, श्रीनारायण मीना, शंभूलाल कुई वाला, कन्हैयालाल मीना, शंकरलाल मीना, गंगाधर सैनी, पूरण मीना,जगमोहन मालिया, पार्षद एलएन भारद्वाज, चिराग जोशी, संजय कोराका समेत कई जनों ने भी संबोधित किया।
एनवक्त पर बदले कार्यक्रम ने चौकाया
धरना प्रदर्शन को लेकर गणेशधाम पर कई थानों का पुलिस जाप्ता भी तैनात रहा, लेकिन जैसे ही दोपहर करीब एक बजे भाजपा नेता रामबिलाश मीना ने धरना प्रदर्शन को समाप्त करते हुए लालसोट थाने के लिए कूंच करने के ऐलान किया तो पुलिस व प्रशासन के अधिकारी भी चौक गए। बाद में आनन फानन में पूरा पुलिस जाप्ता व डिप्टी एसपी शंकरलाल मीना, लालसोट एसएचओ राजवीर सिंह, मंडावरी एसएचओ रामपाल मीना, रामगढ़ पचवारा एसएचओ सुभाष शर्मा समेत सभी पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी लालसोट थाने पर पहुंचे। धरना-प्रदर्शन दौरान लालसोट थाने पर भी दर्जनों की संख्या में पुलिस जाप्ता मौजूद रहा।(नि.प्र.)

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned