नहीं हुआ लालसोट मंडी में कामकाज, किसान व पल्लेदान निराश लौटे

धरी रह गई सभी तैयारियां

By: Rajendra Jain

Updated: 05 May 2020, 09:29 AM IST

लालसोट. शहर की कृषि उपज मंडी में सोमवार से शुरू होने वाले कामकाज के निर्णय को मंडी प्रशासन द्वारा रविवार देर शाम स्थगित किए जाने से सोमवार सुबह भ्रम की स्थिति बनी रही। कुछ किसान वाहनों में अपनी जिंस को लेकर मंडी गेट तक भी जा पहुंचे और कई पल्लेदार भी मंडी में काम करने के लिए जा पहुंचे, दुकानों के आगे सोशल डिस्टेंंसिंग के लिए बनाए गए घेरों समेत सभी तैयारियां भी धरी ही रह गई। ग्रेन मर्चेन्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष नवल झालानी ने बताय कि मंडी संचालन को लेकर पदाधिकारी जिला कलक्टर से भी मिले है। कलक्टर ने बताया है कि उच्चाधिकारियों से मार्गदर्शन मांगा जा रहा है। इसके बाद ही मंडी में कामकाज शुरू होगा। उपखण्ड अधिकारी जेपी गुर्जर ने बताया कि मंडी संचालन के निर्णय से पूर्व पुलिस से एक रिपोर्ट मंगवाई जा रही है, जिसमे किसानों के आने-जाने के रूट व अन्य जानकारी मांगी है।

मंडी में शीघ्र कामकाज शुरू कराएं-जसकौर
लालसोट. कृषि उपज मंडी में दोबारा कामकाज शुरू करने को लेकर सांसद जसकौर मीना ने जिला कलक्टर से दूरभाष पर वार्ता की। सांसद ने बताया कि किसानों द्वारा उनसे संपर्क करने के बाद जब उन्हे सौंफ की फसल खराब होने के बारे में जानकारी मिली तो उन्होंने इस बारे में जिला कलक्टर से वार्ता करते हुए अगर शीघ्र ही लालसोट मंडी में काम काज शुरू नही कराया गया तो किसानों का बड़ा नुकसान होगा, जिस पर जिला कलक्टर ने उन्हें आगामी सात मई से लालसोट मंडी में काम काज शुरू करने का आश्वासन दिया है और यह भी बताया कि वे मंडी में काम काज शुरू करने से पूर्व व्यापारियों व पल्लेदारों के साथ भी बैठक करेंगे।

गेहूं नहीं मिलने से ग्रामीणों में रोष
भांडारेज. सरकार द्वारा बांटी जा रही गेहूं के आवंटन की कमी के चलते गेहूं वितरण डीलरों के लिए भारी दुविधा का कारण बनता जा रहा है। जहां एक ओर डीलर कम आवंटन की बात कह रहे हैं, वहीं ग्रामीण राशन के गेहूं से वंचित रह रहे हैं। इसे लेकर सोमवार को पंचायत मुख्यालय पर स्थानीय लोगों की बैठक भी आयोजित की गई। ग्राम विकास अधिकारी मुकेश कुमार मीणा ने बताया कि गत माह में 814 क्विंटल गेहूं का आवंटन हुआ था। जिसमें भी 95 क्विंटल गेहूं कम पड़ गया था, लेकिन इस बार फिर से ढाई सौ क्विंटल गेहूं का कम आवंटन किया गया है। सरपंच रामजीलाल खटीक, पूर्व सरपंच मिठ्ठूलाल सैनी, कांग्रेस जिला प्रवक्ता घनश्याम शर्मा, सुरेंद्र सिंह सोलंकी, पूरण व्यास, रामधन सैनी, राजेंद्र सैनी, विश्राम बैरवा सहित डीलरों ने कलक्टर को ज्ञापन देने का निर्णय किया।

Corona virus
Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned