कृष्ण जन्मोत्सव में झूमे श्रोता

कृष्ण जन्मोत्सव में झूमे श्रोता

Rajendra Kumar Jain | Publish: May, 16 2019 11:43:10 AM (IST) Dausa, Dausa, Rajasthan, India

बालाजी मन्दिर में संगीतमय श्रीमद्भागवत कथा

 

कुण्डल.
ग्राम पंचायत कालीपहाड़ी के दांतली गांव के बालाजी मन्दिर में चल रही संगीतमय श्रीमद्भागवत कथा ज्ञानयज्ञ में बुधवार को भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव में श्रोता झूम उठे।
कथावाचक हरिद्वार आश्रम के संत विवेकानन्द ने कहा कि जब-जब पृथ्वी पर पाप बढा है, तब-तब भगवान श्री हरि ने किसी न किसी रूप में अवतार लेकर पापियों का संहार कर पृथ्वी को उनके अत्याचार से मुक्त कराया है। पापी कंस के अत्याचार से पृथ्वी को मुक्त कराने के लिए भगवान हरि ने कृष्ण के रूप में अवतार लेकर उसका संहार किया।

इस मौके पर कृष्ण जन्मोत्सव की सजीव झांकी सजाई गई। जन्मोत्सव के दौरान नन्द के घर आनन्द भयो, जय कन्हैया लाल की..., सारे मोहल्ले में ये हल्ला हो गया, मैया यशोदा का लल्ला हो गया..., यशोदा घर जन्में है आज नन्दलाला, गाए बधाई गोकुल सारा..., जन्मे है कृष्ण कान्हाई, गोकुल में देखो बाजे बधाई... सहित अन्य बधाई गीतों पर झोता झूम उठे। झांकी के दर्शन के लिए लोगों का तांता लगा रहा है। इस मौके पर पर समिति द्वारादिन में कई बार ठण्डाई, शर्बत और नीबू पानी पिलाया गया।

कलश यात्रा निकाली
लालसोट. शहर के रामकृष्ण गायत्री माता मन्दिर में बुधवार को संगीतमय श्री मद्भागवत कथा का शुभारम्भ हुआ। कथा से पूर्व महाकाली मन्दिर से गाजे बाजे के साथ कलश यात्रा निकाली गई। जो विभिन्न मार्गों से गुजरती हुई कथा स्थल पर पहुंची। कथा व्यास अमृता प्रिया हरिद्धार ने भागवत कथा के महत्व व उद्देश्य की जानकारी दी। उन्होने कहा कि भागवत कथा सुनने से मनुष्य के सारे संकट दूर हो जाते हैं। आत्मा पवित्र बनती है। कथा में काफी संख्या में महिलाएं व पुरुष मौजूद थे। कथा का समापन 21 मई को होगा।(नि.सं.)

दुब्बी.

कस्बे के समीप कांदोली गांव में बुधवार को सर्व देव प्राण प्रतिष्ठा को लेकर महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली। कलश यात्रा गांव के शिव मन्दिर से शुरू होकर विभिन्न मार्गों से होकर गुजीह। डीजे की धुनों पर श्रद्धालु नाचत गाते व महिलाएं सिर पर कलश रखकर कार्यक्रम स्थल शिव मन्दिर पहुंची। इस कार्यक्रम में शिव, पार्वती, राम -सीता सहित अन्य देवी-देवताओं की मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा होगी। कार्यक्रम मेें नानगराम सैनी, किशनलाल, लल्लूराम, मुन्नालाल आदि मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned