scriptNot 40, but 41 people trapped in Uttarkashi tunnel | लापरवाही : सातवें दिन पता चला सुरंग में 40 नहीं बल्कि 41 लोग फंसे, इस इलाके का है 41वां श्रमिक | Patrika News

लापरवाही : सातवें दिन पता चला सुरंग में 40 नहीं बल्कि 41 लोग फंसे, इस इलाके का है 41वां श्रमिक

locationदेहरादूनPublished: Nov 18, 2023 01:45:06 pm

Submitted by:

Naveen Bhatt

यमुनोत्री एनएच पर सिलक्यारा के पास निर्माणाधीन सुरंग में फंसे हुए मजदूरों की संख्या 40 नहीं, बल्कि 41 है। सात दिन बाद कंपनी की इतनी बड़ी लापरवाही उजागर होने से हड़कंप मचा हुआ है।

rescue_in_tunnel_1.jpg
श्रमिकों को बचाने के लिए टनल में रेस्क्यू
सिलक्यारा में बीते 12 नवंबर की सुबह निर्माणाधीन सुरंग टूटने से बड़ा हादसा हो गया था। उस दौरान कंपनी ने सुरंग में 40 श्रमिकों के फंसे होने और उनके नामों की सूची प्रशासन को सौंपी थी। पिछले सात दिन से 40 श्रमिकों को बचाने के लिए युद्ध स्तर पर रेस्क्यू कार्य चल रहा था। इधर, अब सुरंग में 41 श्रमिकों के फंसे होने की जानकारी सामने आने से कंपनी की घोर लापरवाही को लेकर लोग तमाम सवाल उठा रहे हैं।
41वां श्रमिक बिहार का निकला
सिलक्यारा में सुरंग के भीतर फंसे मजदूरों की तादात भी संंबंधित कंपनी को पता नहीं चल पाई। पूर्व में 40 श्रमिक फंसे होने की जानकारी कंपनी ने दी थी। इसी बीच अब भीतर 41 श्रमिक फंसे होने की बात सामने आई है। सात दिन बाद पता चला कि सुरंग में बिहार के मुजफ्फरपुर के गिजास टोला निवासी दीपक कुमार भी फंसा हुआ है।
ऑस्ट्रेलिया से भी पहुंचे विशेषज्ञ
तमाम कोशिशों के बाद सात दिन बीतने पर भी फंसे हुए श्रमिकों को बाहर नहीं निकाला जा सका है। अब रेस्क्यू में सहयोग के लिए रेल विकास निगम लिमिटेड की ऑस्ट्रेलिया की कंसल्टेंसी कंपनी के विशेषज्ञ उत्तरकाशी पहुंच चुके गए हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो