उत्तराखंड के कांग्रेसियों को एकता का पाठ पढ़ाएंगे राहुल गांधी

उत्तराखंड के कांग्रेसियों को एकता का पाठ पढ़ाएंगे राहुल गांधी
rahul file photo

| Publish: Aug, 02 2018 06:24:34 PM (IST) Dehradun, Uttarakhand, India

उत्तराखंड कांग्रेस को संजीवनी प्रदान करने के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 15 अगस्त के बाद उत्तराखंड आएंगे

(अमर श्रीकांत की रिपोर्ट)
देहरादून। अलग अलग गुटों में बंटी उत्तराखंड कांग्रेस के दिन अब बहुरने वाले हैं। लंबे समय से उत्तराखंड कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के बीच सिर फुटौव्वल की वजह से उत्तराखंड में कांग्रेस निरंतर कमजोर होती चली गई है। लेकिन अब कांग्रेस आलाकामन ने उत्तराखंड को भी काफी गंभीरता से लिया है। उत्तराखंड कांग्रेस को संजीवनी प्रदान करने के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 15 अगस्त के बाद उत्तराखंड आएंगे।

 

कार्यकर्ताओं ने किया आग्रह


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तराखंड आने के लिए हरी झंडी भी दे दी है। साथ ही उत्तराखंड कांग्रेस के नेताआ से यह भी कहा है कि 15 अगस्त के बाद और 21 अगस्त के भीतर की कोई तारीख खुद ही तय करके बताएं लेकिन तारीख निर्धारित करने के पहले उत्तराखंड कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेताओं से बात करे लें ताकि उत्तराखंड कांग्रेस का हर धड़ा राहुल गांधी द्वारा ली जाने वाली बैठक में शामिल हो सके। दरअसल उत्तराखंड कांग्रेस की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से कई बार गुहार लगाई जा चुकी है कि वे उत्तराखंड आएं और सभी गुट से बात करके एकता का पाठ पढ़ाएं ताकि आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस अच्छा प्रदर्शन कर सके। बावजूद कांग्रेस अध्यक्ष ने इसको गंभीरता से नहीं लिया । लेकिन पिछले दिनों कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं ने उनसे उत्तराखंड आने का आग्रह किया है। उसके बाद राहुल ने उत्तराखंड आने का मूड बनाया है।

 

उत्तराखंड कांग्रेस के अंदर काफी ज्यादा गुटबाजी


असल में उत्तराखंड कांग्रेस के अंदर काफी ज्यादा गुटबाजी है जिससे उत्तराखंड में कांग्रेस की स्थिति काफी बदतर हो गई है। हालात यह है कि अब तक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष प्रीतम सिंह अपनी नई टीम नहीं बना पाए हैं। प्रीतम सिंह अब तक 8 बार अपनी नयी टीम की सूची कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के पास भेज चुके हैं। लेकिन कांग्रेस के ही अन्य नेता कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह की नयी टीम बनने में मदद करने के बजाए अडंगा डाल दे रहे हैं। जिससे डेढ़ साल से प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अपनी नयी टीम नहीं बना पा रहे हैं। इससे कांग्रेस कार्यकर्ताओं में काफी घोर निराशा है।

 

हरीश रावत का कद बढऩे से हृदयेश कर रहीं विरोध


पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत का कद बढऩे से कांग्रेस की ही वरिष्ठ नेता इंदिरा हृदयेश खुल कर उनका विरोध कर रही हैं। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष प्रीतम सिंह भी हरीश रावत का विरोध कर चुके हैं। उत्तराखंड कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के बीच बढ़ रही टकराव की स्थिति से कांग्रेस का आम कार्यकर्ता काफी परेशान है। पिछले दिनों कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से दिल्ली में मुलाकात की थी और उन्हें कांग्रेस के हर गुट के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई थी। साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष से आग्रह भी किया था कि वे जल्द उत्तराखंड आएं और सभी वरिष्ठों की बैठक लें और उन्हें एकता का मंत्र दें तभी जाकर आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस काफी बढिय़ा प्रदर्शन कर सकती है।

 

सुझाव का पालन करेंगे


‘कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कभी भी उत्तराखंड आ सकते हैं। वे कांग्रेस के बडे नेता हैं। वे जो भी सुझाव देंगे उसका पालन किया जाएगा। कांग्रेस में कोई गुटबाजी नहीं है। सभी एक हैं।

’ प्रीतम सिंह ,अध्यक्ष ,उत्तराखंड कांग्रेस

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned