बगैर मास्टर प्लान बनाए टिहरी में होगा 7 अगस्त को पर्यटन मिनी कान्क्लेव

बगैर मास्टर प्लान बनाए टिहरी में होगा 7 अगस्त को पर्यटन मिनी कान्क्लेव
file photo

| Publish: Jul, 26 2018 06:09:36 PM (IST) Dehradun, Uttarakhand, India

टिहरी झील और उसके आसपास के क्षेत्रों को पूरी तरह से विकसित करने के लिए अप्रैल 2018 में मास्टर प्लान बनाने की बात थी। उस मास्टर प्लान के तहत ही पर्यटन के लिहाज से पूरे क्षेत्र को विकसित करने की योजना है।

(अमर श्रीकांत की रिपोर्ट)

देहरादून। उत्‍तराखंड सरकार पर्यटन के विकास को लेकर काफी प्रयत्नशील है। इस क्रम में ही पर्यटन विभाग का फोकस टिहरी झील पर है। हालांकि टिहरी झील के विकास को लेकर पर्यटन का मास्टर प्लान अब तक नहीं बन पाया है। टिहरी झील और उसके आसपास के क्षेत्रों को पूरी तरह से विकसित करने के लिए अप्रैल 2018 में मास्टर प्लान बनाने की बात थी। उस मास्टर प्लान के तहत ही पर्यटन के लिहाज से पूरे क्षेत्र को विकसित करने की योजना है। लेकिन विडम्बना यह है कि अब तक मास्टर प्लान तैयार नहीं हो पाया है। अब सरकार ने बिना मास्टर प्लान के ही टिहरी में आगामी 7 अगस्त को पर्यटन मिनी कान्क्लेव कराने का फैसला लिया है।

 

पर्यटन के विकास को लेकर काफी जल्दीबाजी


असल में उत्तराखंड सरकार पर्यटन के विकास को लेकर काफी जल्दीबाजी में है। यदि मास्टर प्लान के तहत टिहरी में होने वाले पर्यटन मिनी कान्क्लेव का आयोजन किया जाता तो काफी संख्या में देशी और विदेशी दोनों की श्रेणी के पर्यटक टिहरी पहुंचते। अब स्थिति यह है कि टिहरी में होने वाले पर्यटन मिनी कान्क्लेव में पर्यटकों की संख्या ज्यादा इसलिए नहीं पहुंच पाएगी क्योंकि इसका प्रचार प्रसार करने में उत्तराखंड सरकार विफल रही है। पहले करीब 20 हजार से ज्यादा पर्यटकों के आने की उम्मीद जगी थी लेकिन लचर व्यवस्था को देखते हुए एेसा लग रहा है कि काफी कम संख्या में पर्यटकों के पहुंचने की उम्मीद है।

 

मूसलाधार बारिश से दिक्‍कत


सबसे बड़ी दिक्कत उत्तराखंड में हो रही मूसलाधार बारिश को लेकर है। इस बारिश ने पहले से ही चारधाम यात्रा में आने
वाले पर्यटकों की राह रोक दी है। एेसे में बिना मास्टर प्लान के टिहरी में पर्यटन मिनी कान्क्लेव का आयोजन करना सरकार की व्यवस्था पर अजीबोगरीब सवाल भी खड़ा कर रहा है। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने गुरुवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में यह दावा किया कि मिनी कान्क्लेव में काफी संख्या में देशी और विदेशी पर्यटक आएंगे। लेकिन महाराज यह नहीं बता पाए कि अब तक कितने देशी और विदेशी पर्यटकों ने टिहरी आने के लिए आन लाइन बुकिंग कराई है। उल्लेखनीय है कि पर्यटन विभाग आगामी 7 अगस्त को टिहरी में होने वाले मिनी कान्क्लेव की तैयारी पिछले कई माह से कर रहा है। इस बारे में पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर का कहना है कि इन्वेस्टमेंट समिट और पर्यटन मिनी कान्क्लेव को लेकर सरकार काफी गंभीर है। उन्होंने कहा कि टिहरी में 7 अगस्त को पर्यटन मिनी कान्क्लेव में काफी संख्या में पर्यटकों के शामिल होने की उम्मीद है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned