scriptValley of Flowers open to tourists | सैलानियों के लिए खुली फूलों की घाटी | Patrika News

सैलानियों के लिए खुली फूलों की घाटी

सैर-सपाटा: यूनेस्को UNESCO की विश्व धरोहर में शामिल
300 से ज्यादा रंग-बिरंगे फूलों का दीदार कर सकते हैं पर्यटक

देहरादून

Published: June 01, 2022 06:48:58 pm

देहरादून. हिमालय की गोद में बसे उत्तराखंड Uttarakhand के गढ़वाल Garhwal रेंज में स्थित विश्व प्रसिद्ध फूलों की घाटी पर्यटकों के लिए बुधवार से खुल गई। यूनेस्को के विश्व धरोहर स्थलों में शामिल फूलों की घाटी नंदा देवी Nanda Devi बायोस्फीयर रिजर्व में आती है। समुद्र तल से 12,992 फुट की ऊंचाई पर वैली ऑफ फ्लॉवर 87.5 वर्ग किमी में फैली है। उत्तराखंड के पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बताया कि फूलों की घाटी पहुंचने में सैलानियों को कोई दिक्कत नहीं होगी। सभी जरूरी इंतजाम किए गए हैं। गेंदा, आर्किड सहित 300 से ज्यादा तरह के फूलों का दीदार हो सकता है। कुछ अविश्वसनीय फूलों के साथ हिमालयीय वनौषधियां देखी जा सकती हैं। रंग-बिरंगी तितलियां, चिडिय़ों का झुंड और जानवर भी यहां रहते हैं। जावलकर ने बताया कि फूलों की घाटी अक्टूबर तक पर्यटकों के लिए खुली रहेगी।

सैलानियों के लिए खुली फूलों की घाटी
सैलानियों के लिए खुली फूलों की घाटी

दुर्लभ वनस्पतियां, ब्रह्म कमल आकर्षण
फूलों की घाटी दुर्लभ हिमालयीय वनस्पतियों से समृद्ध है। यहां फूलों की 300 से अधिक प्रजातियां पाईं जाती हैं,। इनमें एनीमोन, जेरेनियम, प्राइमुलस, ब्लू पोस्पी और ब्लूबेल प्रमुख हैं। पर्यटकों के लिए खास आकर्षण खूबसूरत ब्रह्म कमल फूल है। ब्रह्म कमल उत्तराखंड का राज्य फूल भी कहा जाता है। फूलों की घाटी ब्रिटिश पर्वतारोही और वनस्पतिशास्त्री फ्रैंक एस. स्मिथ ने 1931 में खोजी थी।

घाटी में 17 किमी लंबा ट्रैक
फूलों की घाटी को 2005 में यूनेस्को ने विश्व धरोहर स्थल घोषित किया। घाटी में सत्रह किलो मीटर लंबा ट्रैक है। यह ट्रैक 10 हजार फुट ऊंचाई पर स्थित घांघरिया से शुरू होता है। जोशीमठ के पास एक छोटी-सी बस्ती गोविंदघाट से ट्रैक के जरिए पहुंचा जा सकता है। नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान की ओर से घाटी में ऑफलाइन माध्यम से प्रवेश मिलता है।

जैव विविधता का अनुपम खजाना
पर्यटन सचिव जावलकर ने कहा कि फूलों की घाटी जैव विविधता का अनुपम खजाना है। प्रकृति प्रेमियों और साहसिक गतिविधियों के शौकीनों के लिए फूलों की घाटी पसंदीदा जगहों में से एक है। घाटी में आने वाले पर्यटकों का स्वागत करने के लिए राज्य पूरी तरह से तैयार है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितMaharashtra Political Crisis: आदित्य ठाकरे का बागी विधायकों पर निशाना, कहा- नहीं भूलेंगे विश्वासघात, हमारी जीत तय हैMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में सियासी उलटफेर का खेल जारी, बागी विधायकों को डिप्टी स्पीकर ने जारी किया नोटिसBPSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में गिरफ्तार हुए JDU नेता शक्ति कुमार, सबसे पहले पेपर स्कैन कर WhatsApp पर था भेजाAmarnath Yatra: अमरनाथ यात्रा से 4 दिन पहले प्रशासन अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उठाया बड़ा कदमMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल के खिलाफ नया अविश्वास प्रस्ताव पेशMaharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.