यहां क्वारंटाइन कार्ड से हो रही Coronavirus संदिग्धों की निगरानी, यह है खासियत

Deoghar News: जिले की उपायुक्त नैंसी सहाय ने जिले में बाहर से आने वाले सभी नागरिकों को अनिवार्य रूप से जांच के साथ होम क्वारंटाइन नियमों का पालना सख्ती से करने के निर्देश दिए...

By: Prateek

Published: 10 May 2020, 08:55 PM IST

(देवघर): लॉकडाउन-3 में विशेष ट्रेन और पड़ोसी राज्यों से बस के जरिए वापस घर लौट रहे प्रवासी कामगार, श्रमिकों और अन्य लोगों पर विशेष निगरानी रखी जा रही है। बाहर से आ रहे प्रवासी श्रमिक, मजदूर तथा अन्य लोग जो कि जिले में पहुंच रहे हैं, उन्हें 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन किया जा रहा हैं। ऐसे में उनकी पूर्ण निगरानी और सुरक्षा के लिए क्वारंटाइन निगरानी कार्ड बनाया गया है।


यह है कार्ड की खासियत...

इस कार्ड में उक्त व्यक्ति से जुड़ी सारी जानकारियों के साथ होम क्वारंटाइन अवधि में सरकार व चिकित्सकों द्वारा जारी गाइड लाइन के साथ कोरोना के लक्षण और बचाव से जुड़ी विस्तृत जानकारी दी गई है। इसके अलावे क्वारंटाइन कार्ड में मरीज के ट्रेसिंग से जुड़ी जानकारियों के अलावा जिला प्रशासन द्वारा जारी सभी हेल्पलाइन नंबर की सूची के साथ सरकार द्वारा जारी सभी टोल फ्री नंबर भी दिए गए हैं, ताकि होम क्वारंटाइन व्यक्ति अपनी समस्या या किसी प्रकार की जानकारी घर बैठे आसानी से प्राप्त कर सके। सबसे महत्वपूर्ण क्वारंटाइन निगरानी कार्ड के माध्यम से बाहर से आने वाले लोगों को ट्रेस करने के साथ उनसे जुड़ी जानकारी और आवागमन की गतिविधियों की निगरानी करने में भी अधिकारियों व पुलिस पदाधिकारियों को अब और सहूलियत होगी।


जिले की उपायुक्त नैंसी सहाय ने जिले में बाहर से आने वाले सभी नागरिकों को अनिवार्य रूप से जांच के साथ होम क्वारंटाइन नियमों का पालना सख्ती से करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि अब होम क्वारंटाइन पर रखे गए नागरिकों की निगरान अलग-अलग टीमों रखी जाएगी। इसके लिए कार्मिकों व होमगार्ड को नियुक्त किया जाएगा। ज्ञात हो कि बाहर से आ रहे छात्र, प्रवासी श्रमिकों व अन्य लोगों का सबसे पहले स्वास्थ्य जांच कर उन्हें होम क्वारंटाइन में 14 दिनों तक रहने का निदेश दिया गया है।

Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned