आखिर दो बुजुर्गों ने कैसे किया एसिड अटैक !

आखिर दो बुजुर्गों ने कैसे किया एसिड अटैक !
Acid Attack,

जिला मुख्यालय पर कल सोमवार की सुबह एक लड़की पर हुए एसिड अटैक की घटना अपने आप खुलती नजर आ रही है। 

देवरिया. जिला मुख्यालय पर कल सोमवार की सुबह एक लड़की पर हुए एसिड अटैक की घटना अपने आप खुलती नजर आ रही है। अभी तक मिले जानकारी में ये साफ हो गया है कि ये घटना छेड़खानी के कारण नहीं घटित हुई। बल्कि गाँव के एक छोटे से जमीन के टुकड़े के लिए वर्षों से चले आ रहे पट्टीदारी के झगड़े के परिणामस्वरूप घटित की गयी। घटना लड़की द्वारा या फिर उसके परिवार वालों द्वारा स्वयं घटित की गई ऐसा आम चर्चा में कहा जा रहा है। वैसे पुलिस ने अपनी ओर से कार्यवाही करते हुए आज शाम पीड़िता के पिता की तहरीर के आधार पर हिरासत में लिए गए तीन अभियुक्तों का गम्भीर धाराओं में चालान कर दिया।  



बताते चलें कि, कल सोमवार की सुबह देवरिया शहर में एसपी आवास के पास एक लड़की के ऊपर एसिड अटैक की सूचना जब आम हुई तो एक बारगी पूरे जिले सहित प्रदेश मुख्यालय तक भूचाल सा आ गया। मुख्यमंत्री के कोर जिले और प्रदेश के कृषि मंत्री के जिले में घटित हुए इस घटना की सूचना पर मीडिया के साथ साथ पुलिस महकमा और जिला प्रशासन घटनास्थल की ओर भाग पड़ा। 



एसिड से शरीर के पिछले हिस्से में और पैर की तरफ पड़े छींटे से चिल्लाती पीड़ित युवती ने मीडिया को दिए बयान में बताया कि आरोपी तीन की संख्या में थे और वो पुराना छेड़खानी का मुक़दमा उठाने की बात कह रहे थे। जिले के डीएम, एसपी और अन्य अधिकारी मौके पर पहुँचे सभी ने पीड़िता को ढांढस बंधाते हुए न्याय दिलवाने की बात भी कही। कुछ ही देर बाद मीडिया को एसपी राजीव मल्होत्रा ने जरिए व्हाट्स एप्प सूचित किया कि प्रकरण में तीन लोग हिरासत में लिए गए। पुलिस की सक्रियता और त्वरित कार्यवाही पर लोगों ने खुशी जाहिर करते हुए एसपी को बधाई संदेश भी भेजा। 



कुछ घण्टे ही बीते तो मीडिया को ये पता लगा कि, पुलिस ने पीड़िता के बयान के आधार पर जिन तीन लोगों को विभिन्न जगहों से उठाया है उनमें दो लोग काफी उम्रदराज हैं और रिश्ते में पीड़िता के चाचा लगते हैं और तीसरा कथित आरोपी भी पीड़िता का चचेरा भाई है। कथित अभियुक्तों की धरपकड़ के बाद तेज हुई चर्चा का असर ये हुआ कि पुलिस को भी इस पारिवारिक गुत्थी में उलझना पड़ा और कल देर शाम तक लम्बे पूछताछ के क्रम में पुलिस हिरासत में लिए गए लोगों को न्यायालय में प्रस्तुत नहीं कर पायी। 



आज भी सुबह से दोनो पक्षों के बीच मची गहमागहमी के कारण जिला मुख्यालय पर हलचल बना रहा लेकिन शाम चार बजे के आसपास तीनो कथित अभियुक्तों को पुलिस ने न्यायालय में प्रस्तुत किया और फिर उन्हें वहाँ से सुनवाई के बाद न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया गया। 



पुलिस ने पीड़िता के बयान और उसके पिता द्वारा दिए गए तहरीर के आधार पर कार्यवाही करते हुए तीन लोगों को एसिड अटैक की धारा 326-अ , 504, 506 के तहत आरोपित किया। ये बातें शहर कोतवाल नीतीश श्रीवास्तव ने खुद पत्रिका को बताया लेकिन इसके बाद जब उनसे पूछा गया कि अभियुक्तों की गिरफ्तारी कहाँ से की गयी तो उन्होंने तुरंत पता करके बताने की बात कहते हुए कॉल डिस्कनेक्ट कर दिया। 


अब कोतवाल साहब किससे पूछ कर बताएंगे ये तो वो जाने लेकिन घटना चूंकि दिन के उजाले में घटित हुई और एसिड अटैक जैसे गम्भीर धाराओं में दो उम्रदराज लोगों सहित एक को आरोपित करने से चर्चाओं का बाज़ार गर्म है। इस घटना के घटित होने के कुछ देर बाद ही मुख्यालय से 27 किमी. दूर सलेमपुर के निबन्धन कार्यालय में तैनात लिपिक को पुलिस द्वारा उठाया जाना, बीस किमी. दूर पीड़िता के गाँव से उसके पट्टीदारी के दो लोगों को इस आरोप में उठाया जाना कहानी को दूसरी दिशा में मोड़ता दिख रहा है। वहीं पुलिस अपनी कहानी में क्या कुछ लिख रही है ये अभी खुलकर सामने नही आ पाया है।



घटनाक्रम पर प्रश्न भी उठाये जा रहे हैं जिस पर पुलिस अभी कुछ भी बोलने से कतरा रही है। प्रश्न है कि एसिड अटैक से पीड़ित लड़की इतनी सुबह किस सिलाई कढ़ाई संस्थान में काम सीखने आई थी ! जैसा कि चश्मदीद बताते हैं कि एसपी आवास के पास से लड़की ने शोर मचाया और तीन लोगों द्वारा एसिड फेंककर भागने की बात कही लेकिन पुलिस अभी स्थान और घटना का समय बताने से गुरेज कर रही है और सबसे महत्वपूर्ण प्रश्न कि अभियुक्तों की गिरफ्तारी कहाँ से हुई। 



इन प्रश्नों के उत्तर बताने में पुलिस अभी सीधे तौर पर कतराती दिख रही है । ऐसे में पुलिस के कार्यशैली पर प्रश्न उठना लाजिमी है क्योंकि ऐसा कहा जा रहा है कि पुलिस इन दोनो परिवारों से जुड़े पुराने विवाद और कल के एसिड अटैक का सच जान चुकी है लेकिन फिर भी एसिड अटैक जैसे गम्भीर आरोपों में दो बुजुर्गों का जेल जाना सबको कचोट रहा है ।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned