स्वास्थ विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी, फर्जी नियुक्ति पत्र भी बांटे गये

स्वास्थ विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी, फर्जी नियुक्ति पत्र भी बांटे गये

Ashish Shukla | Publish: May, 18 2018 09:01:42 AM (IST) Deoria, Uttar Pradesh, India

आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 419, 420, 467, 468, 406, 506 तहत केस दर्ज कर लिया है

देवरिया. सरकार और उसका तंत्र लाख सतर्कता बरत ले लेकिन समाज के बीच आज भी आमलोगों को फंसाकर पैसा कमाने का खेल जारी है। देवरिया जिले में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है। नवलपुर का रहने वाला डॉ. अल्तमस हुसैन लोगों से बड़ी-बड़ी बातें करता। सरकार में अपनी पावर और पहुंच का हवाला देकर स्वास्थ्य विभाग में नौकरी दिलाने का सपना दिखाता था ।

इस जालसाज डाक्टर ने एक दो नहीं कई लोगों को झांसा देकर पैसे ऐंठ लिये। गोरखपुर जिले के पिपराइच थाना क्षेत्र के मोहम्दाबाद निवासी इबरार के भाई सफीक से स्वास्थ्य विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर 7 लाख 50 हजार रूपया ले लिया। इसके अलावा क्षेत्र के मोहम्मदाबाद गांव निवासी रामपजापति से 5 लाख, पतरा बाजार गांव निवासी अशोक सिंह से 19 लाख, कृष्णानन्द तिवारी से 30 हजार, रमेन्द्र साहनी से 12 लाख, उन्नौला खुर्द गांव निवासी रविन्द्र नाथ साहनी से 12 लाख, प्रदीप विश्वकर्मा से 9 लाख, हरिबंश यादव से 2 लाख 50 हजार, जयराम सिंह से 9 लाख व 4 लाख रूपया रतनपुर गांव निवासी दयाशंकर से ले लिया था ।

जालसाज पर आरोप यह भी है कि उसने इन लोगों को फर्जी नियुक्ति पत्र भी पकड़ा दिया था । बीच मे कुछ लोगों को थोड़ा बहुत शंका भी हुआ तो रुपये मांगने पर उसने अपने प्रभाव बनाने की कला के तहत धमकियां भी दे डालीं । पैसा देने के बाद परिणाम नही मिलता देख जब लोगों को कुछ गड़बड़ी नजर आयी तो लोग पैसा मांगने लगे तो वह सभी को धमकाने लगा। पीड़ित इबरार ने इस मामले में कोतवाली सलेमपुर में जालसाज के खिलाफ तहरीर दे दी।

कोतवाली पुलिस को दी गई तहरीर में नवलपुर के रहने वाले डा अल्तमस हुसैन के कारनामों की पूरी पोल खोल दी गयी है । सूचना के बाद पुलिस ने इस फ्रॉड के आरोपी अल्तमस हुसैन के खिलाफ धारा 419,420, 467, 468, 406, 506 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर लिया है। कोतवाल विजय सिंह गौर ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। जल्द ही अभियुक्त पकड़ लिया जाएगा ।

Ad Block is Banned