आईसक्रीम खाने या कोल्ड शेक पीने के शौकीन हैं, तो यह खबर आपके लिये है 

आईसक्रीम खाने या कोल्ड शेक पीने के शौकीन हैं, तो यह खबर आपके लिये है 
Fake Ice cream Factory

जिले में फर्जी आइसक्रीम फैक्ट्रियों की भरमार

देवरिया. आईसक्रीम खाने या फिर कोल्ड शेक पीने का यदि आप शौक रखते हों तो सावधान हो जाइए । हो सकता है आप जो आइसक्रीम खा रहे हो वह मानक के विपरीत बना हो। जिले के मुख्यालय सहित सभी छोटे बड़े बाज़ारों में आइसक्रीम कम्पनियों के नाम का भी जमकर इस्तेमाल हो रहा है । राजस्थान से आए युवकों की टीम ने तो मेवाड़ कोल्ड शेक के नाम से पूरे जिले क्या आसपास के इलाकों तक कब्जा जमा रखा है । जब धरपकड़ होती है तो ऐसी दो नम्बरी फैक्ट्रियां कुछ दिन के लिए बन्द हो जाती हैं और फिर सेवा शुल्क की प्रक्रिया पूर्ण कर पुनः बाज़ार में धड़ल्ले से अपने उत्पाद को बेचने लगती हैं । 


इसे रोकने के लिए जिले मे सरकारी तौर पर स्थापित विभाग एफएसडीए की टीम कभी कभार छापेमारी करती दिखती है । इसी विभाग की टीम ने सदर तहसील के सिन्धी मिल कालोनी में एक अवैध आईसक्रीम फैक्ट्री का भण्डाफोड़ किया है । अमूल्या नाम की आईसक्रीम फैक्ट्री कई सालों से अवैध तरीके से आबादी वाले इलाके मे चल रही थी । एफएसडीए की टीम ने जब खाद्य विभाग का लाईसेन्स मांगा तो फैक्ट्री के संचालक नही दिखा सके ।



यह भी पढ़ें: 



मौके पर पहुंचे अधिकारियो ने आईसक्रीम के कई सैम्पल को लेकर लखनऊ निदेशालय को भेज दिया । खास बात ये थी कि मौके से कई नामी कम्पनियो के रैपर भी मिले है । एफएसडीए के डीओ राम अवतार ने बताया कि अवैध आईसक्रीम फैक्ट्री मालिकों को नोटिस दिया गया है जबाब आने के बाद आगे की कार्यवाही की जायेगी ।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned