शहीद के बेटे की पुकार , पाकिस्तान के साथ क्रिकेट ना खेले सरकार

 शहीद के बेटे की पुकार , पाकिस्तान के साथ क्रिकेट ना खेले सरकार
Martyr family

शहीद के बेटे का समर्थन करते हुए लगे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे

देवरिया. सीमा पार से पाकिस्तान की तरफ से की जा रही गोलीबारी और आतंकी घटनाओं से पूरे देश में गुस्सा है। लोग पाकिस्तान से किसी भी तरह के संबंध बहाल नहीं रखना चाहते हैं। इसी तनाव के बीच रविवार 4 जून को इंगलैंड में खेली जा रही चैंपियंस ट्रॉफी में भारत- पाकिस्तान के बीच क्रिकेट मैच खेला जा रहा है, जिसको लेकर देश में विरोध शुरू हो गया है। जिले के टीकमपार गांव के रहने वाला शहीद परिवार भी 4 जून को होने वाले क्रिकेट मैच का विरोध किया है। टीकमपार गांव हाल ही में तब चर्चा में आया था जब कश्मीर में शहीद प्रेम सागर का शव उनके गांव पहुंचा था।


यह भी पढ़ें: चैपिंयस ट्रॉफी में पाकिस्तान को करारी शिकस्त दे भारत, शहीद जवानों को अर्पित करें श्रद्धाजंलि




शहीद प्रेमसागर के बड़े बेटे ईश्वर चन्द्र का कहना है कि पाकिस्तान के साथ मैच नहीं होना चाहिए और पाकिस्तान से हमें कोई रिश्ता नही रखना चाहिये, साथ ही साथ हर मसले पर उसका बहिष्कार कर देना चाहिये, तभी उनको पता चलेगा की किसी देश के साथ गद्दारी नही करनी चाहिए।







ईश्वर चन्द्र  ने कहा कि पाकिस्तान पीठ पीछे गद्दारी कर रहा है फौजी भाइयो का सर काट कर ले जा रहा है,  मेरे पिताजी का सर काटकर ले गए, इसलिए भारत सरकार को खेल का विरोध करना चाहिए। वहीं ग्रामीणों ने भी शहीद के बेटे का समर्थन करते हुए पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाये।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned