शहर के अंदर 6 4 हजार उपभोक्ता, सस्ती बिजली के दायरे में आ रहे 40 प्रतिशत

शहर के अंदर 6 4 हजार उपभोक्ता, सस्ती बिजली के दायरे में आ रहे 40 प्रतिशत
शहर के अंदर 6 4 हजार उपभोक्ता, सस्ती बिजली के दायरे में आ रहे 40 प्रतिशत

mayur vyas | Updated: 09 Oct 2019, 11:14:51 AM (IST) Dewas, Dewas, Madhya Pradesh, India

- पूर्व में संबल योजना में ही आंकड़ा पहुंच गया था 17 हजार के पार

देवास. प्रदेश सरकार ने 100 रुपए में 100 यूनिट बिजली देने के लिए इंदिरा गृह ज्योति योजना लागू की है। इस योजना का हर उस उपभोक्ता को लाभ दिया जाएगा, जिसकी एक महीने में खपत 150 यूनिट है। अगर 150 यूनिट से एक यूनिट भी ज्यादा होती है तो वह योजना से बाहर हो जाएगा। इस योजना का बिल अक्टूबर माह मेंअलग रंग का जारी किया गया हैं।
शहर के अंदर 6 4 हजार घरेलू बिजली उपभोक्ता हैं। इनमें से सस्ती बिजली योजना के दायरे करीब 40 प्रतिशत उपभोक्ता आ रहे हैं। इसके पूर्व संबल योजना में सस्ती बिजली लेने वालों का आकड़ा शहर के अंदर 17 हजार के ऊपर था। राज्य सरकार की महत्वकांक्षी इंदिरा गृह ज्योति योजना को नए स्वरूप में लागू कर दिया है। इसमें सभी घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को शामिल किया गया है। इसमें प्रतिमाह 100 यूनिट तक बिजली की खपत होने पर सिर्फ 100 रुपए बिजली बिल ही आएगा। अब 150 यूनिट मासिक खपत करने वाले सभी घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को इस योजना का लाभ मिलेगा। अब 27 दिन की रीडिंग होने पर पात्रता के लिए मासिक खपत 135 यूनिट होगी और 35 दिन में रीडिंग होने पर पात्रता के लिए मासिक खपत 175 यूनिट होगी।
बिजली अधिक खर्च की तो योजना से हो जाएंगे बाहर
अगर उपभोक्ता किसी माह में अधिक बिजली का खर्च करता हैं तो वो योजना से उस माह बाहर हो जाएगा। ऐसे उपभोक्ताओं को विद्युत नियामक आयोग द्वारा निर्धारित दरों से ही बिल जारी होगा। योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति के घरेलू उपभोक्ताओं को 30 यूनिट तक की मासिक खपत के लिए मात्र 25 रुपए ही देना होंगे। ऐसे बिल बिजली कंपनी तीन से चार माह में जारी करेगी। ऐसे उपभोक्ताओं की मासिक खपत 30 यूनिट से अधिक होने पर उन्हें अन्य उपभोक्ताओं के समान मासिक बिल दिया जाएगा। इसमें विगत ऐसे माह की 30 यूनिट तक के देयक की 25 रुपए प्रतिमाह की राशि बिना किसी अधिभार के शामिल की जाएगी। जिनके लिए बिल दिया जाना शेष था।
सर्दी में कम, गर्मी में अधिक हो जाती हैं खपत
शहर के अंदर बिजली की खपत मौसम पर भी निर्भर करती हैं। सर्दी के मौसम में बिजली की खपत कम हो जाती हैं। इस मौसम में योजना का अधिक से अधिक लाभ उपभोक्ता उठाएंगे। वहीं गर्मी में कूलर, पंखे लगातार चलने से बिजली की खपत दो से तीन गुना बढ़ती हैं। जो उपभोक्ता 200 से 300 यूनिट बिजली खपत कर रहे थे, वे इस योजना के दायरे में आ सकते हैं।
योजना का ऐसे मिलेगा फायदा
- 30 दिन में 150 यूनिट की खपत दर्ज होती है तो पहले 100 यूनिट का 100 रुपए ही देना होगा। 50 यूनिट का बिल टैरिफ के अनुसार उपभोक्ता को देना होगा।
- 27 दिन में रीडिंग हो जाती है तो 135 यूनिट तक लाभ मिलेगा। पहले 100 यूनिट के 100 रुपए ही देने होंगे। शेष भुगतान टैरिफ अनुसार।
- उपभोक्ता की रीडिंग 35 दिन में की जाती है तो 175 यूनिट की खपत आने पर 100 यूनिट का 100 रुपए ही देना होगा। शेष 75 यूनिट का भुगतान टैरिफ अनुसार करना होगा।
वर्जन-
इंदिरा गृह ज्योति योजना शहर में भी शुरू हो गई हैं। इस योजना के अंतर्गत शहर के अंदर करीब 40 प्रतिशत उपभोक्ताओं को लाभ मिल सकता हैं। जिस माह उपभोक्ता अधिक बिजली खर्च करेगा उस माह उसे खपत अनुसार ही बिल जारी होंगे।
सतीष कुमरावत, कार्यपालन यंत्री
शहर संभाग देवास।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned