खराब सड़क को खुद के खर्च पर सुधरवा रहे ग्रामीण

Arjun Richhariya

Publish: Jun, 14 2018 10:58:44 AM (IST)

Dewas, Madhya Pradesh, India
खराब सड़क को खुद के खर्च पर सुधरवा रहे ग्रामीण

- शासन-प्रशासन में गुहार के बाद भी नहीं सुनवाई हुई तो फिर जानभागीदारी से कर रहे सुधार

चापड़ा. रवि पाटीदार
बारिश की चिंता से घबराए ग्रामीण चाहते थे कि किसी भी हाल में खराब सड़क सुधर जाए ताकि गांव का रास्ता बारिश में बंद नहीं हो। इसके लिए ग्रामीणों ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ ही चुने हुए जनप्रतिनिधियों से भी सड़क सुधार के लिए गुहार लगाई लेकिन उनकी अनदेखी की गई। ग्रामीणों ने हिम्मत नहीं हारी व जनभागीदारी कर अब सड़क का निर्माण कर रहे हैं।
समीप ग्राम पंचायत पिपलिया जान के ग्राम खेड़ा के रहवासियों द्वारा विगत माह में पंचायत से लेकर जिला कलेक्टर तक लिखित में आवेदन देकर हाईवे मार्ग से खेड़ा गांव तक के मार्ग के दुरुस्तीकरण की मांग की गई थी। इसी दौरान क्षेत्रिय विधायक व सांसद को भी लिखित में आवेदन देकरमार्ग निर्माण की मांग ग्रामीणों द्वारा की गई थी, लेकिन कई माह बीत जाने के बावजूद भी जिम्मेदारों द्वारा इस ओर ध्यान नहीं दिया गया। जिसके चलते ग्रामीणों ने राशि एकत्रित कर जन सहयोग से ही मार्ग का दुरुस्तीकरण का काम शुरू किया। जानकारी के अनुसार विधायक सांसद, सरपंच, एसडीएम, कलेक्टर सभी को लिखित में आवेदन देकर मार्ग के दुरुस्तीकरण की मांग की गई थी। वही साथी ग्रामीणों ने नाराजगी व्यक्त कर कहा था कि यदि मार्ग का दुरुस्तीकरण नहीं हुआ तो आगामी चुनाव में मतदान का बहिष्कार सभी ग्रामीण मिलकर करेंगे फिर भी शासन प्रशासन के जिम्मेदार जनप्रतिनिधि अधिकारियों द्वारा ग्रामीणों की मांग पर ध्यान नहीं दिया गया। जिसके चलते खेड़ा के सभी रहवासियों द्वारा प्रत्येक घर से 1000-1000 हजार रुपए एकत्र कर जन सहयोग से 1 किलोमीटर मार्ग का दुरुस्तीकरण किया जा रहा है, जिसमें लगभग 40 से 50 हजार रुपए का खर्च आएगा, जो कि ग्रामीण ही उठाएंगे।
अगले चुनाव के बहिष्कार का लिया निर्णय
ग्रामीण रामेश्वर पटेल, आत्माराम मेहरिया, रामेश्वर ठिंगला, धर्मेन्द्र जाट, गणपत जाट, ओम जाट, लक्ष्मण जाट, हरि भाई, इकबाल खान ने बताया कि सभी रहवासियों द्वारा विगत माह में सभी जिम्मेदारों को आवेदन देकर समस्या से अवगत कराया था, लेकिन किसी ने भी इस ओर ध्यान नहीं दिया। पंचायत द्वारा भी किसी भी प्रकार का कोई सहयोग हमें नहीं मिला। जिस पश्चात ग्रामीणों ने निर्णय लिया कि जनसहयोग से मार्ग दुरुस्तीकरण करेंगे, क्योंकि आगामी दिनों में बारिश शुरू होने वाली है। ऐसे में मार्ग से निकलना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। साथ ही मार्र्ग खराब होने के कारण स्कूल बसें भी गांव में नहीं आती है, जिससे बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित होती है। सभी ग्रामीणों ने बताया कि आगामी चुनाव में उक्त गांव के सभी ग्रामीण, नेताओं व चुनाव का बहिष्कार करेंगे। मार्ग सुधार के दौरान मुरम लाते समय एक ट्रैक्टर असंतुलित हो गया और अचानक आगे से उठने लगा और घूमकर ट्राली में गिर गया। गौरतलब है कि इस हादसे के दौरान किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई जबकि चालक व एक अन्य व्यक्ति ट्रैक्टर पर बैठे हुए थे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned