अपने घर के बारे में नहीं बता पा रहा बालक

अपने घर के बारे में नहीं बता पा रहा बालक

Arjun Richhariya | Publish: Jun, 14 2018 11:53:00 AM (IST) Dewas, Madhya Pradesh, India

- चाइल्ड लाइन को मिला गुमशुदा बालक

देवास. चाइल्ड हेल्प लाइन देवास को 13 जून को पुलिस थाना सिटी कोतवाली देवास के माध्यम से जानकारी मिली कि उनके थाने पर सुतारबाखल निवासी राहुल ठाकुर द्वारा एक 6 से 7 वर्षीय बालक को लाया गया है, लेकिन बालक स्वयं के नाम, परिवार व निवास के बारे में किसी प्रकार की जानकारी नहीं दे पा रहा है। जानकारी के पश्चात चाइल्ड लाइन टीम सदस्य रामप्रसाद मौथलिया व जीवन मथनिया द्वारा कोतवाली थाने पर संपर्क किया व बालक का सामान्य स्वास्थ्य परीक्षण करवाने के पश्चात पुलिस के माध्यम से बालक को सुपुर्दगी में लिया व उसे चाइल्ड लाइन केन्द्र पर लाया गया। चाइल्ड लाइन टीम सदस्य जितेन्द्र सुनार्तिया द्वारा बालक से चर्चा की गई, इस दौरान बालक ने स्वयं का नाम छोटू व पिता का नाम अर्जुन व घर के पास जेसीबी होना बताया, लेकिन परिवार व निवास के बारे में अन्य किसी प्रकार की जानकारी नहीं दी गई। बालक का रंग गेहूंूआ, बाल छोटे, शरीर दुबला पतला, सिर पर लम्बी चोंटी, कान में कड़ी, पीले रंग की चेक्स शर्ट, ब्ल्यू कलर की जींस व पैरो में चप्पलें पहनी है।
चाइल्ड लाइन द्वारा जिला बाल कल्याण समिति देवास के निर्देशानुसार बालक को रात्रि में चाइल्ड लाइन केन्द्र देवास में अस्थाई रूप से आश्रय प्रदान किया गया है। उक्त बालक व उसके परिवार के संबंध में किसी को कोई भी जानकारी प्राप्त होती है, तो वह तत्काल चाइल्ड हेल्प लाइन 1098 पर या चाइल्ड लाइन ऑफिस देवास के फोन नं. 07272-254495 व 254496 पर सूचित करें।
इधर सतवास पुलिस ने महिला को पहुंचाया उसके घर
सतवास पुलिस की १०० डायल को सूचना मिली कि क्षेत्र में एक महिला संदिग्ध अवस्था में घुम रही है। सूचना पर पायलेट शम्भू और प्रधान आरक्षक विजय यादव, महिला आरक्षक ज्योति यादव, आरक्षक शमशेरसिंह तत्काल मौके पर पहुंचे। मानिसक रूप से कमजोर महिला बातचीत करने में असमर्थ लग रही थी। अपना नाम व पता भी नहीं बता पा रही थी। कुछ देर बैठाकर महिला को नाश्ता व चाय पिलाई तब उसने बोलना शुरू किया। फिर भी वह अपना नाम व पता स्पष्ट नहीं बता पा रही थी। महिला का फोटो आसपास सोशल मीडिया के माध्यम से भेज कर पता किया तो कांटाफोड़ के शिक्षक पुष्पेंद्र जोशी से जानकारी मिली की यह महिला पूर्व में पुंजापुरा के पास देखी गई है। पुलिस टीम व थाना कांटाफोड़ की महिला आरक्षक मोनिका महिला को पुंजापुरा लेकर पहुंची, किंतु महिला वहां की रहने वाली नहीं थी। बाबू भाई उदयनगर व स्थानीय लोगों की मदद से पुन: घर गांव की तलाश शुरू हुई। ग्रामीणों को बुलवाया, जिसमें से किसी ने पहचान कर बताया कि महिला कांटफोड़ क्षेत्र के उमर गांव की रहने वाली है। गांव पहुंचकर पुलिस महिला को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।

Ad Block is Banned