कोरोना वायरस बैठक में कलेक्टर बोले - चीन से आए 10 लोग, सुरक्षित है जिला

कोरोना वायरस से बचाव एवं जागरूकता के लिए टीम गठित

देवास. चीन ( China ) के वुहान प्रांत में फैले कोरोना वायरस ( coronavirus ) से बचाव ( protection ) हेतु जागरूकता संबंध में बैठक कलेक्टर डॉ. श्रीकांत पांडेय के मार्गदर्शन तथा ( Chief Medical and Health Officer ) मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरके सक्सेना की उपस्थिति में कलेक्टर कार्यालय ( Collector Office ) के सभाकक्ष में आयोजित की गई।

ये भी पढ़ें - : यहां नहीं रुकेगी देश की तीसरी कार्पोरेट ट्रेन

बैठक में जिला मलेरिया अधिकारी रश्मि दुबे, मेडिकल स्पेशलिस्ट डॉ. अतुल पवनीकर, सिविल सर्जन डॉ. अतुल बिड़वई, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. कैलाश कल्याणे, जिलाक्षय अधिकारी डॉ. शिवेंद्र मिश्रा, नोडल अधिकारी आयडीएसपी डॉ. एसएस मालवीय, जिला मीडिया अधिकारी एसएस सिसोदिया, नर्सिंग होम में प्राइवेट हॉस्पिटल एसोसिएशन के सदस्य, आइएमए सदस्य, जिला आयुष अधिकारी सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

 

coronavirus_protection_meeting_in_dewas.png

जिला मलेरिया अधिकारी रश्मि दुबे ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से बताया कि जिले में अभी तक कोरोना वायरस से संबंधित कोई भी मामला नहीं आया है। कोरोना वायरस से बचाव एवं जागरूकता के लिए जिले में टीम गठित की गई है। कोई मामला सामने आता है तो जिला अस्पताल में पूरी तैयारी की गई है। जिला अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। जिले में चीन से 10 लोग आए हैं इन सभी की स्क्रीनिंग कर ली गई है। देवास जिला अभी पूर्ण सुरक्षित है।

ये भी पढ़ें - 7 साल पहले जिस युवक ने किया था रेप, 13 साल बाद उसी पर कार्रवाई

आपको बता दें कि चीन में कोरोना वायरस का पता 31 दिसंबर 2019 को लगा था। कोरोना वायरस चीन के वुहान प्रांत में फैला था। चीन से आने वाले हर भारतीय नागरिक को कड़ी जांच करने के लिए निगरानी में रखा जा रहा है। यह बीमारी आपसी संपर्क से फैलती है। सरकार द्वारा कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए हरसंभव कदम उठा रही। सुरक्षा ही कोरोनाव वायरस का बचाव है। इस बीमारी की गंभीरता को देखते हुए इसकी दैनिक समीक्षा कर रही है।

china Coronavirus coronavirus
Show More
KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned