मोबाइल बैलेंस व फोन बिक्री कलेक्शन के 6.50 लाख हड़पे

अमानत में खयानत का प्रकरण दर्ज

देवास। विभिन्न कंपनियों के मोबाइल बैलेंस, फोन की बिक्री के रुपए कलेक्शन करने वाले एक व्यक्ति ने ६.५० लाख रुपए का हेरफेर कर दिया। रुपए संबंधित जगहों से वसूले तो गए लेकिन जमा नहीं करवाए गए। मामले में कोतवाली पुलिस ने अमानत में खयानत की धाराओं में केस दर्जकर जांच शुरू की है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार फरियादी तरुण पिता राजेंद्र जायसवाल निवासी गजरा गियर्स कॉलोनी मोती बंगला देवास ने रिपोर्ट लिखवाई कि आरोपी विकास पिता गणपत जूनवाल निवासी एलआईजी मुखर्जीनगर देवास उनके यहां काम करता था। उसके द्वारा बाजार से रुपए कलेक्शन का काम किया जाता था। फरवरी व मार्च में उसके द्वारा करीब ६.५० लाख रुपए एकत्रित किए लेकिन उसका हिसाब नहीं दिया। जब भी रुपयों की बात की जाती तो टालमटोल की गई। मामले में शिकायत के बाद पुलिस ने धारा ४०६, ४०७, ४०८ के तहत केस दर्ज किया है।
बैंक में कैश लेने में की आनाकानी
देवास। कालानी बाग क्षेत्र स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में मंगलवार को कई ग्राहकों से कैश नहीं लिया गया। ऐसे में इनको परेशानी का सामना करना पड़ा। ग्राहक प्रशांत विजयवर्गीय ने बताया वो दोपहर में १.१७ लाख रुपए कैश जमा करने के लिए गए थे लेकिन प्रबंधन ने प्रशासन से मिले एक आदेश का हवाला देते हुए रुपए जमा करने से इनकार किया। काफी देर तक जिम्मेदारों से बातचीत चलती रही बाद में कैश जमा किया गया। सुबह यहां से कई ग्राहकों को रुपए लिए बिना ही लौटा दिया गया था। हालांकि विजयवर्गीय के रुपए जमा करने के दौरान कुछ ग्राहक थे उनसे भी रुपए लेकर जमा किए गए।

Chandraprakash Sharma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned