लॉकडाउन में घर के अंदर जाने का बोलने पर सीआरपीएफ के एसआई एवं उसके परिवार ने किया पुलिस पर पथराव, 3 आरक्षकों को आई चोट

देवास के इटावा क्षेत्र में अन्नपूर्णा नगर की घटना : डायल-100 का कांच फूटा, भारी फोर्स पहुंचा मौके पर, दो भाइयों सहित बहन व मां को कोर्ट ने भेजा जेल

देवास। कोरोना वायरस संक्रमण पर नियंत्रण के लिए जिले में लॉक डाउन घोषित किया गया है। ऐसे में लोगों को बिना वजह बाहर न घूमते हुए घरों के अंदर ही रहना है लेकिन कई लोग इसका पालन नहीं कर रहे हैं।
इटावा क्षेत्र में अन्नपूर्णा नगर में बुधवार सुबह एक घर के बाहर भीड़ लगी देखकर मौके पर पहुंचे पुलिस जवानों ने लोगों को अंदर जाने के लिए कहा तो उन्होंने विवाद शुरू कर दिया। पहले मारपीट की फिर एक ही परिवार के लोगों ने मिलकर पुलिस पर पथराव कर दिया। इसके बाद मौके पर और फोर्स पहुंचा तो फिर से पथराव किया गया जिसमें तीन आरक्षकों को चोट आई, वहीं डायल-100 वाहन का साइड ग्लास फूट गया। पुलिस ने घेराबंदी कर दो भाइयों सहित उनकी बहन व मां को गिरफ्तार किया। इनको न्यायालय में पेश किया गया जहां से जेल भेज दिया गया। आरोपियों में एक सीआरपीएफ का एसआई भी शामिल है।
सिविल लाइन पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सुबह करीब 11.40 बजे पुलिस आरक्षक लोकेश मुकाती, सैनिक निलेश भ्रमण करते हुए इटावा क्षेत्र के अन्नपूर्णा नगर पहुंचे। यहां एक जगह 7-8 लोग खड़े हुए थे।जवानों ने लॉक डाउन का जिक्र करते हुए इनसे घरों के अंदर जाने के लिए कहा तो लोगों ने विवाद शुरू कर दिया। एक ने कहा मुझे शहंशाह कहते हैं, वकील हूं। वहीं एक अन्य ने कहा सीआरपीएफ मेें सब इंस्पेक्टर हंू, जावेद नाम है मेरा। इसके बाद बहसबाजी शुरू कर दी, इसी दौरान जावेद ने निलेश से मारपीट शुरू कर दी और अन्य लोगों ने पथराव शुरू कर दिया। जवानों ने मामले की जानकारी वायरलेस सेट पर दी जिसके बाद डायल-१०० सहित इटावा सहायता केंद्र से फोर्स, टीआई योगेंद्रसिंह सिसौदिया, एसआईदीपक कांबले आदि पहुंचे जहां इन पर भी पथराव किया गया। इससे डायल-१०० वाहन का साइड का ग्लास टूट गया। इस दौरान कईजवानों व अधिकारियों के साथ आरोपियों द्वारा झूमाझटकी की गई।
न्यायालय में पेश किया, भेजा जेल
पुलिस ने घेराबंदी करके आरोपी शहंशाह मिर्जा, उसके छोटे भाईजावेद मिर्जा, बहन मिर्जा शिरीन बी, मां अख्तर बी को गिरफ्तार किया। थाने लाकर इनके खिलाफ फरियादी आरक्षक लेाकेश मुकाती की शिकायत पर धारा ३५३, ३३२, ३३६, ४२७, १८८, ३४ के तहत केस दर्ज किया गया। इसके बाद इनको न्यायालय में पेश किया गया जहां से जेल भेज दिया गया। बताया जा रहा है कि दो आरोपी भाइयों में से एक के निकाह को लेकर उनके यहां मेहमान भी आने वाले थे, फिर भी परिवार ने हंगामा व पथराव की घटना को अंजाम दिया। घटना का पता चलने पर एसडीएम अरविंद चौहान, सीएसपी अनिलसिंह राठौर ने थाने पहुंचकर जानकारी ली।

Chandraprakash Sharma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned